डेविड वॉर्नर और विराट कोहली © Getty Images
डेविड वॉर्नर और विराट कोहली © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत दौरे से पहले ही तैयारी में लग गई है। ऑस्ट्रेलिया ने हार ही में खत्म हुई पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में पाक टीम को करारी शिकस्त दी है। लेकिन भारत में कंगारू टीम के सामने चुनौतियां आसान नहीं रहने वालीं। इसी लिहाज से ऑस्ट्रेलिया के सबसे विस्फोटक बल्लेबाज डेविड वॉर्नर अभी से भार दौरे के लिए हुंकार भरने लगे हैं। वॉर्नर ने भारत दौरे पर अभी तक कुछ खास नहीं किया है और उनका औसत सिर्फ 24 का ही रहा है। लेकिन अब वह अपने रिकॉर्डो को बेहतर करने की पूरी कोशिश करेंगे।

डेविड वॉर्नर भारतीय उपमहाद्वीप और भारत में उतने प्रभावशाली नहीं रहे हैं, जितना की उन्हें जाना जाता है। भारत में वॉर्नर का औसत सिर्फ 24 का तो श्रीलंका में भी वॉर्नर बुरी तरह से संघर्ष करते नजर आए थे। वहीं ऑस्ट्रेलिया में वॉर्नर का औसत लगभग 60 का है। साथ ही पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वॉर्नर ने जमकर रन बनाए थे। जिसकी बदौलत ऑस्ट्रेलिया पाक पर भारी पड़ी थी। हालांकि वॉर्नर को भारतीय पिचों में खेलने का बहुत अनुभव है और उन्होंने यहां आईपीएल में काफी मैच खेले हैं। ऐसे में वॉर्नर ने भरोसा जताया कि वह आगामी दौरे में अपना रिकॉर्ड सुधारने की कोशिश करेंगे।

वॉर्नर ने कहा, ‘भारत दौरे पर पहली बार मैं साल 2013 में गया था, वहां कि पिचें काफी मुश्किल और चुनौतीपूर्ण होतीं हैं। लेकिन इस बार विफल होने पर कोई बहाना नहीं चलेगा। मैंने वहां आईपीएल के कई मैच खेले हैं। लेकिन इस बार पिचें आईपीएल से अलग होंगी। लेकिन इस बार मैं शानदार खेलने को तैयार हूं और मुझे पता है कि मुझसे क्या उम्मीद है।’ ये भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में इन पांच भारतीय खिलाड़ियों पर होगा भारी दबाव

वॉर्नर ने आगे कहा कि हमारी टीम के लिए श्रीलंका दौरा काफी निराशाजनक रहा था। हम वहां अच्छा नहीं खेल सके थे। हमारी टीम को जरूरत है 150 ओवर खेलने की और अगर हम ऐसा कर पाएंगे तो मैच जीतने में कामयाब हो सकते हैं। वॉर्नर ने कहा कि भारत में विराट कोहली को रोकना एक चुनौती होगी और हम सभी जानते हैं कि कोहली खेल के तीनों ही प्रारूपों में जबर्दस्त बल्लेबाज हैं। हमें सिर्फ अपना सर्वश्रेष्ठ देने की जरूरत होगी ना कि किसी विशेष को निशाना बनाने की।

वॉर्नर ने कहा कि वह भारत में अपने पुराने रिकॉर्ड को सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे और इस बार वह अपने बल्ले से जमकर रन बनाएंगे। साथ ही वॉर्नर ने विश्वास जताया कि भारत में खेलने का अनुभव उनके काम आएगा।