बल्लेबाज डेविड मलान (Dawid Malan) ने हाल के दिनों में टी-20 इंटरनेशनल मैचों बेहतर प्रदर्शन किए हैं.  क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में लगभग 50 के औसत से रन बनाने के बावजूद मलान की इंग्लैंड क्रिकेट टीम में जगह पक्की नहीं है. टी-20 के औसत को देखते हुए उनकी तुलना अब विराट कोहली (Virat Kohli) से की जाने लगी है लेकिन इस इंग्लिश बल्लेबाज का कहना है कि जब तक वह 50 से अधिक टी-20 नहीं खेल लें तब तक उनकी तुलना भारतीय कप्तान से नहीं की जानी चाहिए.

बल्लेबाजी क्रम में तीसरे नंबर पर उतरने वाले मलान ने अब तक 16 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 48.71 की औसत से 682 रन बनाए हैं.  इसमें एक नाबाद शतक भी शामिल है.

जेसन रॉय और स्टोक्स की गैरमौजूदगी में मिला मौका 

इस 33 वर्षीय बल्लेबाज को जेसन रॉय (Jason Roy) और बेन स्टोक्स (Ben Stokes) की अनुपस्थिति में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नियमित तौर पर खेलने का मौका मिला.  बकौल मलान, ‘मैं जिस तरह का खिलाड़ी हूं, मुझे यह जानना पसंद है कि टीम में मेरी स्थिति क्या है इसलिए मैंने कहा था कि जब आप शृंखला में खेलते हो तो आपको पता होता है कि आपको क्या करना है. ’

ईएसपीएनक्रिकइन्फो के अनुसार उन्होंने कहा, ‘भले ही आंकड़े कुछ कहते हों लेकिन मुझे नहीं लगता कि मैं विराट कोहली या अन्य खिलाड़ियों के करीब भी हूं.  जब मैं 50 मैच खेल लूं तो उनसे मेरी तुलना कुछ हद तक की जा सकती है.’

‘किसी को भी टीम में जगह बनाने के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा’

टीम में उनकी जगह पक्की नहीं होती है लेकिन मलान ने कहा कि वह वही कर सकते हैं जो उनके नियंत्रण में है और यह है मौका मिलने पर ढेर सारे रन बनाना.  मलान ने कहा, ‘यह कड़ी स्थिति है. हम सभी जानते हैं कि इन बल्लेबाजी क्रम पर खेलने वाले खिलाड़ी कितने अच्छे हैं.  पिछले चार-पांच वर्षों में उनका रिकॉर्ड शानदार है. किसी को भी टीम में जगह बनाने के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा और इंग्लैंड के लिये मैच जीतने होंगे. ’

उन्होंने कहा, ‘मैं अच्छी तरह से समझता हूं कि जेसन और स्टोक्सी वापसी करेंगे और ऐसे में मेरा काम है कि मौका मिलने पर अधिक से अधिक रन बनाना.  मुझे उन पर, कप्तान इयोन मोर्गन और चयनकर्ताओं पर दबाव बनाना होगा.’