Day-night test will be part of Team India’s annual calendar: Sourav Ganguly
सौरव गांगुली (IANS)

बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के एतिहासिक ईडन गार्डन्स में पहला पिंक बॉल टेस्ट जीतने के बाद भारतीय टीम अब डे-नाइट फॉर्मेट को अपने सालाना कैंलेडर का हिस्सा बनाने के लिए तैयार है। बीसीसीआई के अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने खुद इसकी पुष्टि की है।

रविवार को हुई बोर्ड की एपेक्स समिति की बैठक के बाद पूर्व क्रिकेटर ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए बयान में कहा, “आधिकारिक ऐलान जल्द किया जाएगा लेकिन हमने ऑस्ट्रेलिया में डे-नाइट टेस्ट खेलने का फैसला किया है। हम अगले साल फरवरी में घर पर इंग्लैंड के खिलाफ भी एक डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेंगे। डे-नाइट टेस्ट अब से नियमित तौर पर खेला जाएगा।”

भारत में डे-नाइट टेस्ट को बढ़ावा देने में पूर्व कप्तान गांगुली की अहम भूमिका है। गांगुली के अध्यक्ष पद पर काबिज होने के बाद ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली डे-नाइट टेस्ट खेलने के लिए राजी हुए थे।

रविचंद्रन अश्विन ने याद की बचपन की भयावह घटना, जब उनकी उंगलियों काटने वाले थे विपक्षी खिलाड़ी

उससे पहले कप्तान कोहली और कोच रवि शास्त्री ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर डे-नाइट टेस्ट खेलने का क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का प्रस्ताव ठुकरा दिया था। लेकिन अब 2020 के आखिर में होने वाले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय टीम चार मैचों की सीरीज में एक पिंक बॉल टेस्ट खेलेगी। हालांकि सीए ने बीसीसीआई के सामने दो डे-नाइट टेस्ट मैचों का प्रस्ताव रखा था लेकिन गांगुली के मुताबिक ‘चार में दो मैच, ज्यादा हो जाएगा’।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अपना दूसरा पिंक बॉल टेस्ट खेलने के बाद घर पर इंग्लैंड के खिलाफ तीसरा पिंक बॉल टेस्ट खेलेगी। रिपोर्ट के मुताबिक इस मैच का आयोजन अहमदाबाद में तैयार हुए नए सरदार पटेल स्टेडियम में किया जा सकता है।