© Getty Images
© Getty Images

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली चाहते हैं कि भारत में एक बार फिर से दर्शक टेस्ट क्रिकेट के दीवाने हों और खेल के इस फॉर्मेट को देखने के लिए प्रशंसक भारी तादाद में स्टेडियम में पहुंचे। गांगुली के मुताबिक पिंड बॉल डे-नाइट टेस्ट के जरिए टेस्ट क्रिकेट में दर्शकों की वापसी दोबारा हो सकती है। गांगुली ने कहा कि हाल ही में पिंक बॉल से जितने भी डे-नाइट टेस्ट हुए हैं वो सारे ही बेहद सफल रहे हैं और दर्शकों ने उन्हें हाथों हाथ लिया है। ये भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया को मिला विराट कोहली को आउट करने का ‘मंत्र’

गांगुली ने कहा कि आप देखिए साल 2015 में जब ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच एडिलेड में डे-नाइट टेस्ट खेला गया तो स्टेडियम दर्शकों से खचाखच भरा था। इसके बाद भी जितने भी डे-नाइट टेस्ट हुए हैं वो भी सारे सफल रहे हैं। ऐसे में भारत में भी डे-नाइट टेस्ट खेले जाने चाहिए। मैं कोई पिंक बॉल का प्रशंसक नहीं हूं लेकिन इस तरीके से हम टेस्ट क्रिकेट में दोबारा दर्शकों को ला सकते हैं। इसके अलावा मौजूदा दिलीप ट्रॉफी में पिंक बॉल का इस्तेमाल किया जा रहा है और इस पर गांगुली का मानना है कि हम एक अच्छे टूर्नामेंट को खत्म नहीं कर सकते। हमें इस टूर्नामेंट के लिए जगह बनानी होगी और ये एक अच्छा टूर्नामेंट होगा।

गांगुली क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल के अध्यक्ष गांगुली फिलहाल भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले दूसरे वनडे को सफल बनाने की तैयारी में जुटे हैं। दोनों देशों के बीच दूसरा वनडे मैच 21 सितंबर को कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला जाना है। सीरीज का पहला मैच 17 सितंबर को एम ए चिदंबरम स्टेडियम में खेला जाएगा। पहले वनडे से पहले दोनों टीमें कड़ी तैयारी में जुटी हैं और दोनों का ही इरादा पहले मैच को जीतकर सीरीज में जीत के साथ खाता खोलने का होगा।