चेतन चौहान© AFP
चेतन चौहान© AFP

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के उपाध्यक्ष चेतन चौहान ने बुधवार को खिलाड़ियों के चयन को लेकर डीडीसीए पर लगाए गए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आरोपों को ‘आधारहीन’ बताया। उल्लेखनीय है कि केजरीवाल ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि डीडीसीए के एक अधिकारी ने एक खिलाड़ी के चयन के लिए उसकी मां के साथ यौन संबंध की मांग रखी थी। चौहान ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हम पर लगाए गए आरोपों के संबंध में हमारे पास कोई सूचना नहीं है। किसी ने भी हमसे ऐसी कोई शिकायत नहीं की। अगर किसी को शिकायत है तो उनका स्वागत है। वे आएं हमें अपनी शिकायत बताएं और हम उनके नाम और उनकी सूचना को गोपनीय रखेंगे। निश्चित तौर पर यह बेहद गंभीर मसला है, जिसका समाधान सर्वोच्च प्राथमिकता होगी।” ये भी पढ़ें: क्रिकेटर लक्ष्मीरतन शुक्ला ने लिया संन्यास

पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी चौहान ने आगे कहा, “मैं मामले की गंभीरता को समझ सकता हूं। अगर किसी व्यक्ति को कोई भी शिकायत है तो वह हमें बताए। हम उस सूचना को गोपनीय रखेंगे और दोषी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मुझे हैरानी हो रही है कि आखिर लोग हम पर ऐसे आधारहीन आरोप क्यों लगा रहे हैं। आखिर लोग बिना किसी सबूत के ऐसे आरोप क्यों लगा रहे हैं।” ये भी पढ़ें: भारत पाक मैच सीरीज होने में कोई बुराई नहीं

केजरीवाल ने मंगलवार को समाचार चैनल एनडीटीवी को दिए साक्षात्कार में कहा था कि खिलाड़ियों के चयन के लिए यौन संबंधों की मांग की जाती थी। गौरतलब है कि केजरीवाल सरकार ने डीडीसीए मामलों की जांच के लिए एक जांच आयोग गठित कर दी है। ये भी पढ़ें: दूसरे टेस्ट के लिये क्विंटन डीकॉक और क्रिस मोरिस साउथ अफ्रीका टीम में शामिल

केजरीवाल ने कहा था, “आपको जानकर हैरानी होगी कि एक वरिष्ठ पत्रकार ने मुझे फोन कर बताया कि उसके बेटे का चयन हो गया था। लेकिन उसके बेटे का नाम चयनित खिलाड़ियों की सूची में शामिल नहीं था। क्या आप इस पर विश्वास कर सकते हैं..अगले दिन उनकी पत्नी के पास एक एसएमएस आता है कि ‘आप मेरे घर आ जाइए आपके बेटे का चयन हो जाएगा’।” चौहान ने हालांकि इन आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने इस बात से भी इनकार किया है कि विभिन्न आयुवर्ग की टीमों में चयन के लिए पैसे लिए गए।