सरनदीप सिंह © Getty Images
सरनदीप सिंह © Getty Images

मदन लाल की अगुआई वाली डीडीसीए की क्रिकेट मामलों की समिति (सीएसी) ने राष्ट्रीय चयनकर्ता सरनदीप सिंह की इस अपील को ठुकरा दिया है कि राज्य टीम की चयन समिति के अध्यक्ष पद के लिए उनके नाम पर विचार किया जाए। सरनदीप ने सीएसी को पत्र लिखकर कहा था कि वो बिना कोई पैसा लिए चयन समिति का अध्यक्ष बनने को तैयार हैं। हालांकि सरनदीप को इंटरव्यू के लिए भी नहीं बुलाया गया।

डीडीसीए के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर पीटीआई को बताया, ‘‘हां, सरनदीप की अपील खारिज कर दी गई है। अगर सरनदीप को दिल्ली का सेलेक्टर बनना है तो उन्हें टीम इंडिया के सेलेक्टर का पद छोड़ना होगा क्योंकि लोढा समिति की सिफारिशें एक व्यक्ति के लिए कई पद की इजाजत नहीं देती।’’ सरनदीप का तर्क था कि राष्ट्रीय चयन समिति के उनके साथी एमएसके प्रसाद और देवांग गांधी दोनों अपने राज्यों की चयन समिति के अध्यक्ष हैं। दूसरे वनडे से पहले विराट कोहली ने ‘हाथियों’ के साथ गुजारा वक्त

अधिकारी ने कहा, ‘‘डीडीसीए में हम लोढा समिति की सिफारिशों के खिलाफ नहीं जाना चाहते। हम नहीं कह सकते कि बंगाल या आंध्र क्यों देवांग या प्रसाद को अपने पदों पर जारी रखने की इजाजत दे रहे हैं।’’ सरनदीप फिलहाल श्रीलंका में भारत की वनडे टीम का प्रदर्शन देख रहे हैं। श्रीलंका में ही मौजूद विजय दाहिया ने स्काइप के जरिये कोचों के इंटरव्यू में हिस्सा लिया। बंगाल के अशोक मल्होत्रा ने भी इंटरव्यू में हिस्सा लिया। मनोज प्रभाकर और पिछले साल के कोच केपी भास्कर को बड़ा दावेदार माना जा रहा है।