रविवार, 29 मार्च 2020 को ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) पर दो साल के लिए लगाया गया कप्ताना ना बन पाने का बैन खत्म हो गया है। जिसके साथ ही नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज के फिर से ऑस्ट्रेलिया टीम का नेतृत्व करने को लेकर चर्चा शुरू हो गई है।

कुछ लोग स्मिथ को फिर से कप्तान के पद पर देखना चाहते हैं लेकिन कई पूर्व दिग्गज ऐसे हैं जिन्हें इससे ऐतराज है। उन्हीं में से एक है पूर्व कंगारू बल्लेबाज डीन जोन्स (Dean Jones)।

जोन्स का मानना है कि टिम पेन (टेस्ट) और एरोन फिंच (वनडे, टी20) अपना काम अच्छी तरह से कर रहे हैं, इसलिए कप्तान बदलने की जरूरत नहीं है।

पूर्व खिलाड़ी ने ट्वीट किया, “तो स्टीव स्मिथ पर लगा लीडरशिप बैन खत्म हो गया, किसी को लगता है कि हमें बदलाव की जरूरत है? मेरा मानना है कि टिम पेन (Tim Paine) और एरोन फिंच (Aaron Finch) बेहतरीन काम कर रहे हैं।”

फैंस भी पूर्व कंगारू क्रिकेटर की बात से सहमत है। कमेंट्स में लोगों ने कहा ‘अगर कुछ बिगड़ा नहीं है तो उसे क्यों सुधारा जाय’, वहीं कई फैंस ने कहा कि स्मिथ को टीम के मुख्य बल्लेबाज की भूमिका में भी बने रहना चाहिए।

स्मिथ को लेकर अक्टूबर 2019 में दिए एक बयान में टीम को कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने कहा था उन्हें नहीं लगता कि इस दिग्गज बल्लेबाज को फिर से कप्तान बनना है। स्मिथ ने खुद कभी भी खुलकर दोबारा कप्तान बनने की इच्छा जाहिर नहीं की।

लगभग एक महीने पहले दिए बयान में इस खिलाड़ी ने कहा था कि इसकी कोई चिंता नहीं है। स्मिथ ने ये भी कहा था कि ‘पेनी और फिंची कमाल का काम कर रहे हैं’। इन बयानों से तो यही लग रहा है कि फैंस स्मिथ को निकट भविष्य में फिर से कप्तानी करते नहीं देख पाएंगे।