पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का मानना है कि 2023 विश्व कप के लिए तेज गेंदबाज दीपक चाहर (Deepak Chahar) को सीनियर पेसर भुवनेश्वर कुमार की जगह टीम इंडिया में शामिल किया जाना चाहिए। पूर्व दिग्गज का ये बयान तब आया है जब भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे में हार का सामना करना पड़ा। भुवनेश्वर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले पहले और दूसरे वनडे मैच में क्रमश 64 और 67 रन दिए हैं लेकिन उन्हें एक भी सफलता नहीं मिली है।

गावस्कर ने चाहर को मौका देने का समर्थन किया क्योंकि अच्छे स्विंग गेंदबाज होने के साथ साथ वो निचले क्रम में भरोसेमंद बल्लेबाज भी हैं।शनिवार को स्पोर्ट्स टुडे पर गावस्कर ने कहा, “मुझे लगता है कि अब दीपक चाहर के प्रदर्शन को देखने का समय आ गया है। वो युवा है, अच्छे गेंदबाज हैं और नीचे के क्रम में अच्छी बल्लेबाजी भी करते हैं।”

गावस्कर ने कहा, “भुवी ने भारतीय क्रिकेट में शानदार गेंदबाजी की है, लेकिन पिछले एक साल में उनकी गेंदबाजी की लय ठीक नहीं है। वह पहले शानदार गेंदबाजी करते थे, जिसमें यॉर्कर और धीमी गेंदें शामिल थीं, लेकिन वे अब काम नहीं कर रही हैं। ऐसा हो सकता है, विपक्ष हर समय आपकी गेंदबाजी को परखता है, जिससे उन्हें खेलने में आसानी रहती है।”

चाहर भुवनेश्वर की जगह लेने के लिए एक विकल्प के रूप में उभरे हैं, भारत ने पिछले साल नवंबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए सभी तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में विकेट लिए। चाहर की ऑलराउंड क्षमता ने उन्हें कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में 2/53 के रिकॉर्ड आंकड़े दिए, जब भारत ने पिछले साल शिखर धवन के नेतृत्व में द्वीप राष्ट्र का दौरा किया था। इसके बाद नंबर आठ पर उन्होंने 82 गेंदों में नाबाद 69 रन बनाए और टीम को जीत दिलाई।

गावस्कर ने कहा कि अब समय आ गया है कि टीम को अगले साल अक्टूबर और नवंबर में होने वाले 2023 विश्व कप के लिए तैयार किया जाए। उन्होंने कहा, “अब इरादा यह देखने का होना चाहिए कि भारत में 2023 विश्व कप के लिए आपकी कोर टीम क्या होगी। हमें ऐसा करने के लिए 17-18 महीने का अच्छा समय मिला है। वेस्टइंडीज, श्रीलंका और बाद में इंग्लैंड के खिलाफ आगामी मैच होंगे। यही वह जगह है जहां आपको उन्हें अधिक से अधिक मैच जिताने होंगे ताकि टीम विश्व कप के लिए अच्छी तरह तैयार रहे।”