Deepak Chahar: World Cup is dream but main focus is on staying injury free
दीपक चाहर (IANS)

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के जरिए अंतरराष्ट्रीय टीम में जगह पाने वाले तेज गेंदबाज दीपक चाहर भी हर भारतीय खिलाड़ी की तरह विश्व कप खेलना चाहते हैं लेकिन फिलहाल इंजरी से बचना उनकी प्राथमिकता है। राजस्थान के इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी का करियर चोटों की वजह से काफी प्रभावित रहा है।

27 साल के तेज गेंदबाज ने कहा, “एक खिलाड़ी के तौर पर भारतीय टीम में खेलना सभी का सपना होता है। मैं टी20 में खेल रहा था और अब वनडे में खेलने का मौका मिल रहा है। अब तक मेरे लिए सब कुछ अच्छा रहा है लेकिन विश्व कप से पहले अभी काफई क्रिकेट खेला जाना है। मेरा पहला लक्ष्य फिटनेस है ताकि मैं चयन के लिए उपलब्ध रहूं और सभी मैच खेल सकूं। मुझे ये निश्चित करना होगा कि जो इंजरी मुझे हो चुकी हैं वो दोबारा ना हों।”

चाहर ने आगे कहा, “जब मैं पहले साल रणजी ट्रॉफी खेल रहा था तो मैं 125 की गति से गेंदबाजी करता था और फिर मुझे इंजरी हुई और मैंने कुछ साल गंवा दिए। ऐसा इसलिए था क्योंकि मैं अपनी गति बढ़ाने की कोशिश कर रहा है लेकिन मुझे पता था कि मैं इस गति से भारत के लिए नहीं खेल सकता और मैं 140 के करीब गेंदबाजी करना चाहता था। इसलिए मैंने अपने एक्शन में कुछ बदलाव किए।”

कीरोन पोलार्ड ने टॉस जीता, पहले गेंदबाजी करेगी वेस्टइंडीज

उन्होंने कहा, “करियर की शुरुआत में, मेरा ध्यान स्विंग करा विकेट निकालने पर था। रणजी ट्रॉफी से टीम इंडिया में जगह बनाना मुश्किल था। इसलिए मैंने सफेद गेंद पर ध्यान दिया। सफेद गेंद को स्विंग कराना लाल गेंद के मुकाबले कठिन होता है। इसलिए मैंने इस पर काम किया। मैंने पिछले कुछ सालों में अपने यॉर्कर पर भी काम किया।”