Delhi Daredevils is reviewing Mohammed Shami’s case before IPL
मोहम्मद शमी © AFP

नयी दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी दिल्ली डेयरडेविल्स  मोहम्मद शमी से जुड़े विवाद पर करीबी नजर रखे हुए है। साथ ही फ्रेंचाइजी के बड़े अधिकारी इस मामले में जल्द ही बीसीसीआई अधिकारियों से मिल सकते हैं। शमी की पत्नी हसीन जहां ने इस तेज गेंदबाज पर घरेलू हिंसा और व्यभिचार का आरोप लगाकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। सीसीआई पहले ही उनका सालाना कॉन्ट्रेक्ट रोक चुका है क्योंकि पुलिस घरेलू हिंसा के आरोपों की अपनी जांच जल्द शुरू कर सकती है।

विराट कोहली के सेलेक्शन की वजह से दिलीप वेंगसरकर को चयनकर्ता पद से नहीं हटाया गया था: एन श्रीनिवासन
विराट कोहली के सेलेक्शन की वजह से दिलीप वेंगसरकर को चयनकर्ता पद से नहीं हटाया गया था: एन श्रीनिवासन

डेयरडेविल्स अब बीसीसीआई से कानूनी सलाह का इंतजार कर रही है कि उसे बंगाल के इस तेज गेंदबाज को शिविर में भाग लेने की अनुमति देनी चाहिए या नहीं। शिविर इस महीने के आखिर में शुरू होगा। फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘‘डेयरडेविल्स मैनेजमेंट इस मामले में एकतरफा फैसला नहीं कर सकता है। आईपीएल में खेलने वाले हर खिलाड़ी का तीन स्टेज अनुबंध होता है जिसमें बीसीसीआई, फ्रेंचाइजी और खिलाड़ी शामिल होता है। हम इस संवेदनशील स्थिति से वाकिफ हैं और बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारियों से बात कर रहे हैं। कॉन्ट्रेक्ट में एक शर्त है कि कोई भी खिलाड़ी किसी भी तरह से टीम को बदनाम नहीं करेगा लेकिन उस पर वकील ध्यान देंगे।”

बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, “इस तरह के संवेदनशील समय में, जब लोग घरेलू हिंसा के खिलाफ अपनी आवाज उठा रहे हैं, जब तक शमी साफ तौर पर केस से बाहर नहीं आते हैं फ्रेंचाइजी का नाम भी खराब होगा। अगर दिल्ली डेयरडेविल्य परेशान है, तो उनके पास इसका कारण है। उनकी एक ब्रांड इमेज है और उन्हें उसे बचाना है।”