Dilip Vengsarkar feels Prithvi Shaw should be India’s first-choice opener against Australia
Prithvi Shaw © Getty Images

वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट टेस्ट में डेब्यू करने वाले पृथ्वी शॉ ने अपने पहली ही मैच में शानदार शतक जड़ ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए अपनी दावेदारी पेश की है। पूर्व भारतीय कप्तान और मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के वाइस-प्रेसीडेंट रह चुके दिलीप वेंगसरकर का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर शॉ बतौर सलामी बल्लेबाज टीम इंडिया के पहले विकल्प होने चाहिए।

भारतीय टेस्ट टीम पिछले कुछ समय से एक निश्चित सलामी जोड़ी नहीं ढूंढ पा रही है। टीम इंडिया शिखर धवन, मुरली विजय और केएल राहुल के बीच ही घूम रही है। हालांकि 18 साल के शॉ ने विंडीज के खिलाफ पहले मैच में जिस तरह से बल्लेबाजी की वो सलामी बल्लेबाजी के मजबूत दावेदार बन गए हैं।

वेंगसरकर ने कहा, “एक 18 साल का लड़का जिसके पास खोने को कुछ नहीं है, उन्होंने जबरदस्त क्षमता दिखायी है और अपनी उम्र से ज्यादा परिपक्व तरीके से खेला।” वेंगसरकर चाहते हैं एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयनसमिति शॉ की प्रतिभा पर भरोसा दिखाए और उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मौका दे।

शॉ की तारीफ करते हुए मुंबई चयनसमिति के प्रमुख रहे मिलिंद रेगे ने कहा, “जिस बात ने मुझे सबसे ज्यादा प्रभावित किया वो ये कि वो शॉट खेलने से डरा नहीं। वो बाकियों से अलग था। मैने शॉ के बारे में राहुल द्रविड़ से काफी बात की। उन्होंने मुझे मौका लेने की सलाह दी क्योंकि शॉ के पास काफी काबिलियत है।”