श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चांदीमल ने कोच चंडिका हथुरुसिंघे और मैनेजर असंका गुरुसिंघे के साथ अपने ऊपर लगे कोड ऑफ कंडक्ट तोड़ने के आरोपों को स्वीकार कर लिया है। तीनों ने आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 2.3.1 को तोड़ने का अपराध मान लिया है जो कि लेवल तीन का अपराध है और खेल भावना को तोड़ने या नुकसान पहुंचाने से जुड़ा है।

इंग्लैंड जैसी सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ छुपने की कोई जगह नहीं है: फिंच
इंग्लैंड जैसी सर्वश्रेष्ठ टीम के खिलाफ छुपने की कोई जगह नहीं है: फिंच

चांदीमल, कोच और टीम मैनेजर के आरोप स्वीकार करने के बाद कोड ऑफ कंडक्ट के आर्टिकल 5.2 के हिसाब से आईसीसी ने माइकल बेलॉफ को इस सुनवाई के लिए जुडिशियल कमिश्नर नियुक्त किया है। बेलॉफ मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ के लगाए आरोपों के खिलाफ चांदीमल की अपील सुनेंगे।

श्रीनाथ ने चांदीमल को वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ करने का दोषी माना था। मैच के तीसरे दिन जब अंपायरों ने श्रीलंकाई टीम को इस बात की जानकारी दी तो टीम ने आरोपों से इंकार किया। टीम ने अंपायरों के फैसले का विरोध करते हुए मैदान पर आने से मना कर दिया था। करीबन दो घंटे की बातचीत के बाद खेल शुरू हुआ था।

टेस्ट मैच खत्म होने के बाद आईसीसी ने मामले की जांच की। वीडियो फुटेज में आरोपों की पुष्टि होने के बाद आईसीसी प्रमुख डेविड रिचर्डसन ने चांदीमल पर एक टेस्ट मैच का बैन लगाया गया था।