×

IPL 2023- वही मैदान, वैसे ही हालात, वही तैयारी... पर कार्तिक नहीं दोहरा पाए धोनी वाला करिश्मा

दिनेश कार्तिक ने तैयारी पूरी कर ली थी लेकिन वह नतीजा वह नहीं दे पाए जिसकी उम्मीद की जा रही थी.

dinesh-karthik

dinesh-karthik

बेंगलुरु: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के फैंस के लिए सोमवार का दिन बड़ा दिल दुखाने वाला रहा. आखिरी गेंद पर उसे लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा. हर्षल पटेल के सामने आवेश खान थे और लखनऊ के हाथ में एक विकेट बाकी था. जीत के लिए भी एक ही रन चाहिए था. यानी किसी भी सूरत में बल्लेबाज छोर बदलेंगे ही बदलेंगे यह तो पक्का था. गेंदबाज और फील्डर तैयार थे. विकेट के पीछे दिनेश कार्तिक ने भी दायां दस्ताना उतार दिया था. यानी अगर बल्लेबाज गेंद को मिस करे तो थ्रो करने में आसानी हो. तैयारी पूरी थी. पटेल की गेंद आवेश खान के बल्ले को छकाती हुई विकेट के पीछे भी गई. यानी पहला पड़ाव बैंगलोर के लिए पार. लेकिन… इसके बाद कार्तिक वह करिश्मा नहीं कर पाए जिसकी उम्मीद की जा रही थी. वह महेंद्र सिंह धोनी की तरह तैयार तो थे लेकिन नतीजा वह नहीं आया.

कैसी थी तैयारी

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने दो विकेट पर 212 रन बनाए. निकोलस पूरन के 19 गेंद पर 62 और मार्कस स्टॉयनिस के 30 गेंद पर 65 रन की मदद से लखनऊ की टीम ने मैच में दमदार वापसी की. लेकिन पूरन के आउट होने के बाद मैच रोमांचक हो गया. आखिरी ओवर में लखनऊ को जीते के लिए पांच रन चाहिए थे. गेंद बैंगलोर के डेथ ओवर स्पेशलिस्ट माने जाने वाले हर्षल पटेल के हाथों में थी. पहली गेंद पर जयदेव उनाकट ने एक रन लिया. इसके बाद अगली ही गेंद पर पटेल ने मार्क वुड को बोल्ड कर मैच को और रोमांचक बनाया.

ओवर की तीसरी गेंद पर रवि बिश्नोई ने पॉइंट की दिशा में खेलकर दो रन चुरा लिए. चौथी गेंद पर बिश्नोई ने गेंद को पुल किया और एक रन ले लिया. अब दो गेंद पर एक रन चाहिए था. पटेल ने पांचवीं गेंद पर जयदेव को आउट किया. गेंद को पुल करने गए उनादकट टाइमिंग मिस कर गए और लॉन्ग ऑन पर फाफ डु प्लेसिस ने आसान सा कैच लपका.

अब आखिरी गेंद थी. पटेल ने गेंद लेकर दौड़े. लेकिन उन्होंने देखा कि रवि बिश्नोई पहले से आगे निकल रहे हैं. उन्होंने नॉन-स्ट्राइकर छोर पर उन्हें रन आउट करना चाहा. पर वह मिस कर गए. इसके बाद आखिरी गेंद स्लो थी. गेंद बल्ले को छकाती हुई विकेटकीपर के पास गई. इसके बाद कार्तिक ने गेंद को पकड़ना चाहा लेकिन वह सफाई से गेंद को पकड़ नहीं पाए. जब तक वह संभलते बिश्नोई क्रीज में पहुंच ही चुके थे कार्तिक ने गिरते-पड़ते थ्रो किया लेकिन तब तक आवेश खान भी छोर बदल चुके थे.

धोनी की चतुराई

साल 2016 के टी20 वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ बेंगलुरु के इसी चिन्नास्वामी स्टेडियम पर धोनी ने बेहतरीन खेल दिखाया था. आखिरी गेंद पर बांग्लादेश को 2 रन चाहिए थे. हार्दिक पंड्या गेंद फेंक रहे थे. उनकी गेंद शुवागाता होम गेंद को मिस कर गए थे. गेंद धोनी के हाथों में गई. इससे पहले ही दूसरे छोर पर खड़े मुशफिकुर रहीम ने दौड़ लगा दी. धोनी ने गेंद को पकड़ा और विकेट पर थ्रो करने के बजाय दौड़ लगा दी. इससे पहले कि रहीम क्रीज तक पहुंचते धोनी ने गिल्लियां बिखेर दीं. भारत वह मुकाबला 1 रन से जीता था. 146 रन के जवाब में बांग्लादेश 145 रन ही बना सका था.

trending this week