आईसीसी टी20 विश्व में डेब्यू करने वाली सबसे युवा खिलाड़ी शेफाली वर्मा (Shafali Verma) की विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए अक्सर उनकी तुलना दिग्गज खिलाड़ियों वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) या फिर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) से की जाती है। लेकिन शेफाली के कोच अश्विनी कुमार का कहना है कि वो इस युवा खिलाड़ी की तुलना किसी और से ना करें और उसे अपनी पहचान बनाने दें।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कुमार ने कहा, “मुझे पता है कि ये तुलना काफी शानदार है लेकिन शेफाली, शेफाली है। भारतीय क्रिकेट का सहवाग या सचिन कहने से पहले उसे शेफाली बनने दें।”

शेफाली के कोच ने कहा, “शेफाली के पास मजबूत बाजू, कंधे और हाथ-आंख का शानदार समन्वय है, जिससे गेंदबाज के सामने ज्यादा गलतियां नहीं होती। मुझे ये तुलना थोड़ी सही नहीं लगती।”

Ranji Trophy Final: बल्‍लेबाजी के दौरान बिगड़ी चेतेश्‍वर पुजारा की सेहत, लौटे पवेलियन

पिछले चार साल से शेफाली को क्रिकेट की बारिकियां सिखाने वाले कुमार ने कहा, “शेफाली मेहनती है और जल्दी सीखती है। उसे केवल अपनी बल्लेबाजी में एक-दो रनों को भी जोड़ना होगा। लेकिन वो अभी युवा है और अनुभव मिलने पर और बेहतर बनेगी। मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि वो खेल के सभी फॉर्मेट में कामयाब होगा। मेरी बात को लिख ये केवल शुरुआत है।”

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान भारतीय टीम में कदम रखने वाले शेफाली अब तक खेले 19 मैचों में 487 रन बना चुकी हैं, जिसमें दो अर्धशतक शामिल हैं। अगर कुमार की मानें तो ये बल्लेबाज जल्द ही वनडे टीम में भी जगह बनाने वाली है।