ECB Chief Ashley Giles feels Test Championship could lead to change in focus
एशले जाइल्स Getty Images

इंग्लैंड क्रिकेट के डायरेक्टर एशले जाइल्स का मानना कि आईसीसी की विश्व टेस्ट चैंपियनशिप विश्व कप जीत के बाद इंग्लैंड टीम की प्रायिकता बदलने का काम करेगी।

एक अगस्त से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज खेलने की तैयारी कर इंग्लैंड की पुरुष क्रिकेट टीम ने इयोन मोर्गन की कप्तानी में पहली बार विश्व कप खिताब जीता है। लेकिन अब समय खेल के सबसे बड़े फॉर्मेट पर ध्यान लगाने का है। वनडे में शीर्ष पर मौजूदा इंग्लैंड टीम फिलहाल टेस्ट रैंकिंग में चौथे नंबर पर है।

टेस्ट चैंपियनशिप पर बात करते हुए जाइल्स ने स्काई स्पोर्ट्स न्यूज पर कहा, “पिछले चार साल से हमारा ध्यान सीमित ओवर फॉर्मेट क्रिकेट पर था और शायद अब संतुलन लाने का समय आ गया था। ये जरूरी था कि पेंडुलम 50-50 पर ना रुके बल्कि पूरी तरह से वनडे क्रिकेट की तरफ जाए जो कि हमने इस देश में अब तक नहीं किया है। शायद उस वजह से टेस्ट टीम पर प्रभाव पड़ा लेकिन अगर हम विश्व कप जीतने को लेकर गंभीर थे तो हमें ये करना ही था जो हमने कर दिखाया।”

ऑनलाइन प्रसंग के मामले में इमाम उल हक ने माफी मांगी

जाइल्स ने कहा कि वो खुद भी टेस्ट क्रिकेट के फैन हैं और इंग्लैंड में टेस्ट क्रिकेट को काफी पसंद किया जाता लेकिन कई देशों में ये फॉर्मेट खराब स्तर पर है। ईसीबी डायरेक्टर ने कहा, “मैं प्रशंसक हूं। टेस्ट क्रिकेट साफ तौर पर दुनिया के कुछ हिस्सों में वनडे और टी20 क्रिकेट की लोकप्रियता के चलते हाशिए पर चला गया है। लेकिन हमारा देश वास्तव में इसके साथ संघर्ष नहीं करता है। यहां टेस्ट क्रिकेट लोकप्रिय बना हुआ है और इस साल एशेज की सारी टिकट बिक गई हैं। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के मुकाबले को किसी विज्ञापन की जरूरत नहीं है लेकिन बाकी देशों में ये इतना आसान नहीं है।”

एशेज सीरीज का पहला मैच एजबेस्टन, बर्मिघम में एक अगस्त को खेला जाना है।