इंग्लैंड के पूर्व अंपायर जॉन होल्डर ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के उस बयान की कड़ी आलोचना की है, जिसमें इंग्लिश बोर्ड ने कहा था कि होल्डर और उनके साथी अंपायर-इस्माइल दाऊद ने बोर्ड पर लगाए गए संस्थागत नस्लवाद के आरोपों को वापस ले लिया है।

अंपायर होल्डर ने क्रिकइंफो से कहा, “ईसीबी के खिलाफ हमारे मामले को कानूनी तकनीकी आधार पर खारिज किया गया। मैंने अपने द्वारा किए गए किसी भी दावे को वापस नहीं लिया है। ईसीबी के बयान के लहजे से लोगों को ये लगेगा कि हमने घटनाओं को स्वीकार कर लिया है और पीछे हट गए हैं। ये बिल्कुल ऐसा नहीं है। हम आश्वस्त हैं कि ईसीबी संस्थागत रूप से नस्लवादी है।”

उन्होंने कहा, “बयान को पढ़ने के बाद मैं जानता था कि मैं इन लोगों के साथ काम नहीं कर सकता। यहां विश्वास लायक कुछ नहीं है। वे मेरे अनुभवों से सीखना नहीं चाहते हैं; वे मुझे चुप कराना चाहते हैं और यह आभास देना चाहते हैं कि चीजें सुलझ गई हैं। यह भ्रामक और कपटपूर्ण है।”

होल्डर और इस्माइल दाउद ने अपने कार्यकाल के दौरान कथित नस्लीय पक्षपात के आरोप में ईसीबी के खिलाफ पिछले साल मुकदमा दायर किया था। दोनों ने ईसीबी पर संस्थागत नस्लवाद में लिप्त होने का आरोप लगाया था।