तेज गेंदबाज जॉश हेजलवुड के शानदार स्पेल के साथ ग्लेन मैक्सवेल और मिशेल मार्श की अर्धशतकीय पारियों के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने मैनचेस्टर में खेले गए पहले वनडे मैच में इंग्लैंड को 19 रन से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल की है।

मैनचेस्टर में खेली जा रही वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। स्टीव स्मिथ के बगैर खेल रही ऑस्ट्रेलिया टीम ने पारी की शुरुआत में ही पहले डेविड वार्नर और फिर कप्तान एरोन फिंच का विकेट खो दिया।

43 रन पर दो विकेट गिरने के बाद मार्कस स्टोइनिस ने मार्नस लाबुशेन के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। दोनों बल्लेबाजों ने तीसरे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी बनाई। तीन नंबर पर खेलने उतरे स्टोइनिस ने 34 गेंदो पर 6 चौकों की मदद से 43 रन बनाए लेकिन अर्धशतक पूरा किए बिना 16वें ओवर में मार्क वुड का शिकार बने।

स्टोइनिस के आउट होने के बाद मार्श ने पारी का जिम्मा संभाला। दूसरे छोर पर पहले लाबुशेन (21) और फिर एलेक्स कैरी (10) का विकेट गिरने के बाद मार्श को मैक्सवेल का साथ मिला।

मार्श-मैक्सवेल ने मिलकर छठें विकेट के लिए 126 रनों की अहम साझेदारी बनाई। जिसकी बदौलत ऑस्ट्रेलिया 123 रन पर पांच विकेट खोने के बावजूद 295 के स्कोर पहुंच सकी। मैक्सवेल ने 59 गेंदो पर चार चौकों और चार छक्कों की मदद से 77 रन बनाए। जबकि मार्श ने 100 गेंदो पर 73 रन की पारी खेली।

इंग्लैंड के लिए तेज गेंदबाजों मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर ने 3-3 विकेट हासिल किए, जबकि स्पिन आदिल राशिद को दो सफलताएं मिली।

296 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम का बल्लेबाजी क्रम शुरुआत से ही लड़खड़ाने लगा। हेजलवुड और जम्पा ने मिलकर 57 रन पर टीम के चार बड़े शीर्ष क्रम बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा जिसमें कप्तान मोर्गन भी शामिल थे।

हालांकि बेयरस्टो एक छोर से टिके रहे और फिर सैम बिलिंग्स उनका साथ देने मैदान पर उतरे। दोनों बल्लेबाजों के बीच पांचवे विकेट के लिए 113 रन की साझेदारी बनी लेकिन इस दौरान इंग्लैंड का रन रेट काफी नीचे चला गया। 36वें ओवर में हेजलवुड ने जम्पा की गेंद पर 84 रन पर खेल रहे बेयरस्टो का शानदार कैच पकड़ा।

बेयरस्टो के आउट होने के इंग्लैंड के विकेटों का सिलसिला एक बार फिर शुरू हो गया लेकिन बिलिंग्स ने एक छोर पर टिके रहकर डेब्यू शतक जड़ा। उन्होंने 110 रन पर 14 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 118 रन की पारी खेली लेकिन इंग्लैंड को जीत नहीं दिला सके।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से स्पिनर जम्पा ने सर्वाधिक चार विकेट लिए। जबकि 10 ओवर में 26 रन देकर तीन विकेट लेने वाले हेजलवुड को मैन ऑफ द मैच का खिताब मिला।