Eng vs Aus: Eoin Morgan hails ‘aces’ Archer and Woakes as England rally to beat Australia
क्रिस वोक्स (Twitter)

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में मिली जीत के बाद तेज गेंदबाजों जोफ्रा आर्चर और क्रिस वोक्स की जमकर तारीफ की। दोनों गेंदबाजों ने मैनचेस्टर में खेले गए दूसरे मुकाबले में बीच के ओवरों में अहम विकेट लेकर इंग्लैंड को 24 रन से जीत दिलाई।

232 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कप्तान एरोन फिंच और मार्नस लाबुशाने की शतकीय साझेदारी की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने 30 ओवर तक मैच पर मजबूत पकड़ बना ली थी। लेकिन इसके बाद वोक्स ने पहले लाबुशाने और फिर फिंच को चलता कर इंग्लैंड को मैच में वापसी कराई। जिसके बाद आर्चर ने सैम कर्रन के साथ मिलकर निचले क्रम को समेटा और पूरी टीम 207 पर ऑलआउट हो गई।

मैच के बाद इंग्लिश कप्तान ने कहा, “जोफ्रा जाहिर तौर पर हमारा इक्का है और वोक्सी भी, ये हमारी सबसे बड़ी ताकत है। आप उन्हें खेल के सबसे महत्वपूर्ण हिस्सों में गेंदबाजी कराना पसंद करते हैं और मुझे लगा कि जिस समय मैं उन्हें वापस लाया वो सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा था क्योंकि तब खेल हमसे दूर था।”

क्रिस वोक्स-जोफ्रा आर्चर की गेंदबाजी के दम पर इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को हरा सीरीज में वापसी की

मोर्गन ने कहा, “मुझे लगता है कि खेल ऐसे स्टेज की तरफ बढ़ रहा था, जहां हमें बड़ा कदम उठाना था। फिंच और मार्नस ने चीजों को आसान बना दिया था इसलिए मैंने सबकुछ झोंक दिया। जॉफ और वोक्सी के लिए इस तरह से वापसी करना शानदार था। जब वो ऐसे गेंदबाजी करते हैं तो वो कप्तान को अच्छा दिखाते हैं।”

दूसरे वनडे में फिंच लाबुशाने को छोड़कर कोई कंगारू बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका। जिसके बाद एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाजी क्रम को आलोचना झेलनी पड़ी लेकिन मोर्गन का कहना कि ऐसा इंग्लैंड की बेहतर गेंदबाजी की वजह से हुआ ना कि ऑस्ट्रेलिया की खराब बल्लेबाजी की वजह से।

WATCH: विकेटकीपर के रॉकेट थ्रो के सामने चित हुआ बल्लेबाज

उन्होंने कहा, “ऑस्ट्रेलिया ने ज्यादा गलतियां नहीं की। विकेट एलबीडब्ल्यू और बोल़् थे- या तो गेंद निप हुई थी या फिर स्विंग। ये गेंदबाज का बल्लेबाज को आउट करने का तरीका है। जब आप इस तरह से अंतर्द्वंद करते हैं, तो लोगों के लिए पता चलता है कि यहां हालात कितने मुश्किल हैं।”

आर्चर-वोक्स के अलावा कर्रन ब्रदर्स- टॉम और सैम ने भी दूसरे वनडे में अच्छा प्रदर्शन किया। मोर्गन ने दोनों युवा ऑलराउंडर्स की तारीफ की। उन्होंने कहा, “ये उन्हें कमतर समझना होगा लेकिन ये सच है। जितनी बार भी वो टीम में आए हैं उन्होंने बाकी खिलाड़ियों के मुकाबले ज्यादा प्रतिद्वंद्विता दिखाई है- कर्रन ब्रदर्स का चरित्र ही ऐसा है।”