England all rounder Ben Stokes has been punished enough, says Michael Vaughan
Michael Vaughan © Getty Images

ब्रिस्टल नाइट क्लब के बाहर हुई मारपीट के आरोप से इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को कोर्ट ने सुनवाई के बाद बरी कर दिया है। इस फैसले के तुरंत बाद ही स्टोक्स को भारत के खिलाफ खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट की संभावित खिलाड़ियों कि लिस्ट में उनको शामिल कर लिया गया।

पूर्व कप्तान माइकल वॉ ने कहा है कि झगड़े के मामले में बरी होने के बाद इंग्लैंड के आलराउंडर बेन स्टोक्स की टेस्ट टीम में वापसी का स्वागत किया जाना चाहिए।

वॉन ने कहा कि पिछले साल सितंबर में वेस्टइंडीज के खिलाफ एकदिवसीय मैच के बाद ब्रिस्टल के नाइटक्लब के बाद हुई घटना के कारण पिछले 11 महीने में न्यूजीलैंड में जन्में 27 साल के स्टोक्स को पर्याप्त सजा मिल चुकी है। वान ने ट्वीट किया, ‘‘मुझे लगता है कि यह तथ्य कि वह ऑस्ट्रेलिया में सर्दियों के दौरे के दौरान पूरी तरह बाहर रहा, यह बेन स्टोक्स के लिए पर्याप्त सजा है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे निजी तौर पर लगता है कि अब निर्दोष साबित होने के बाद उसे खेलने की स्वीकृति मिलनी चाहिए।’’
इंग्लैंड टीम में स्टोक्स के साथी जानी बेयरस्टा ने कहा, ‘‘मुझे बेहद खुशी है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह उसके और उसके परिवार के लिए लंबे 10 महीने रहे।’’

बेयरस्टा ने कहा, ‘‘उम्मीद करते हैं कि हम जल्द ही उसे इंग्लैंड की शर्ट में देखेंगे क्योंकि हमने एजबस्टन में देखा कि वह क्या प्रभाव डाल सकता है।’’