पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर जेफ्री बॉयकॉट और एंड्रयू स्ट्रॉस को नाइटहुट से सम्मानित किया गया है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने अपने इस्तीफे के साथ दी ऑनर्स लिस्ट में इन दोनों खिलाड़ियों को सर की उपाधि देने का ऐलान किया है।

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख टॉम हैरिसन ने आधिकारिक बयान में कहा, “हम इससे ज्यादा खुश नहीं हो सकते कि सर एंड्रयू स्ट्रॉस खेल के उन दिग्गजों की सूची में शामिल हो गए हैं, जिन्हें उनकी उपलब्धियों के लिए नाइटहुड दिया गया। पिच पर और उसके बाहर हासिल की उपलब्धियों के अलावा एंड्रयू को इस खेल में एक असाधारण व्यक्ति के रूप में जाना जाता है। उन्हें मिली इस अद्भुत प्रशंसा का जश्न विश्व क्रिकेट में मनाया जाएगा।”

स्ट्रॉस ने इंग्लैंड के लिए 2004 से 2012 तक 100 टेस्ट मैचों में 7,037 रन बनाए। स्ट्रॉस ने इंग्लैंड को साल 2009 और 2010-11 की एशेज सीरीज में जीत दिलाई थी। साथ ही वो माइक गेटिंग (1986-87) के बाद ऑस्ट्रेलियाई में टेस्ट सीरीज जीतने वाले दूसरे इंग्लिश कप्तान हैं।

 ऐतिहासिक जीत के बाद मोहम्‍मद नबी ने टेस्‍ट क्रिकेट से लिया संन्‍यास

क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद स्ट्रॉस ने तीन साल (2015-18) तक बतौर डायरेक्टर इंग्लैंड क्रिकेट टीम के साथ काम किया। इंग्लैंड को विश्व कप में मिली खिताबी जीत की नींव रखने में स्ट्रॉस की अहम भूमिका है।

हैरिसन ने आगे कहा, “हमारा हार्दिक अभिनंदन सर जेफ्री बॉयकॉट को भी जाता है, जिन्हें उनके लंबे करियर और खेल के प्रति भावुक समर्पण के लिए सम्मानित किया गया है।”

वनडे-टी20 पर ध्यान लगाना चाहते हैं नबी

बॉयकॉट पीएम मे के पसंदीदा खिलाड़ियों में से एक थे और पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कई मौकों पर उनके जुनूनी दिमाग के लिए उनकी प्रशंसा की थी। पिछले साल ब्रेक्सिट वार्ताओं के दौरान, मे ने ये कहकर अपने मत का बचाव किया था, “क्या मैं सिर्फ ये कह सकती हूं कि आप मेरे पिछले बयानों से याद कर सकते हैं कि मैंने क्रिकेट के बारे में कहा है कि मेरे नायकों में से एक हमेशा जेफ्री बॉयकॉट थे। और हम जेफ्री बॉयकॉट के बारे में क्या जानते हैं? जेफ्री बॉयकॉट टिके रहे और आखिरी में उन्होंने रन हासिल किए।”

बॉयकॉट इंग्लैंड क्रिकेट के इतिहास में एक अहम शख्सियत हैं। उन्होंने 1964 ले 1982 कर इंग्लैंड टीम के लिए खेलते हुए 47.72 की औसत से 8,114 रन बनाए।

तेज गेंदबाज मोहम्‍मद शमी के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट को किया गया रद्द

गौरतलब है कि साल 2017 में बॉयकॉट ने मजाक में कहा था कि ‘नाइटहुड हासिल करने के लिए शायद उन्हें अश्वेत होना पड़ेगा’ क्योंकि उस समय वेस्टइंडीज के दिग्गजों विवियन रिचर्ड्स, गैरी सोबर्स और कर्टली एंब्रोस को ये सम्मान दिया गया था। हालांकि उन्होंने इस टिप्पणी के लिए माफी मांगी थी।