England cricketers will use their different balls in practice; will follow social distancing
इंग्लैंड क्रिकेट टीम (Getty images)

इंग्लैंड के क्रिकेटर वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ पूर्व निर्धारित टेस्ट सीरीज से पहले जब अगले हफ्ते अभ्यास पर लौटेंगे तो हर खिलाड़ी को अभ्यास के लिए गेंदों का एक बॉक्स दिया जाएगा, जिन पर वो लार नहीं लगा सकते हैं।

इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने कोविड-19 महामारी के कारण अपनी सभी गतिविधियां जुलाई तक निलंबित कर रखी हैं। उन्होंने कहा कि इन गर्मियों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी के लिए 30 क्रिकेटरों को तैयार रखा जाएगा।अभ्यास सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार ही होगा।

ईसीबी के क्रिकेट निदेशक एशले जाइल्स ने ‘द गार्डियन’ से कहा, ‘‘हमें हालात पर काबू रखना होगा जिससे सुपरमार्केट जाने की तुलना में अभ्यास पर लौटना अधिक सुरक्षित होगा।’’

‘लॉकडाउन के बाद क्रिकेट शुरू होने पर IPL को प्राथमिकता दे BCCI’

खिलाड़ी सोशल डिसटेंसिंग का नियम सुनिश्चित करने के लिए 11 काउंटी मैदानों पर अलग अलग समय में अभ्यास करेंगे और इस दौरान एक खिलाड़ी- एक गेंद की नीति भी लागू की जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमें जितना संभव हो सके जोखिम को कम करना होगा। एक वेन्यू पर खिलाड़ी अलग अलग अभ्यास कर सकते है लेकिन उनका कोच एक ही होगा जैसे चार या पांच गेंदबाजों के लिए एक कोच होगा। ’’

जाइल्स ने कहा, ‘‘लेकिन सामाजिक दूरी के नियम का पालन करते हुए वे कोई भी चीज एक दूसरे तक पहुंचाने के लिए करीब नहीं आएंगे। इन दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना जरूरी है।’’

गार्डियन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि खिलाड़ी केवल अपने निजी बॉक्स की गेंदों का ही इस्तेमाल कर सकते हैं और जब गेंद का उपयोग नहीं हो रहा हो तब उन्हें वो अपने किट बैग में रखनी होगी। गेंदबाज बुधवार से अभ्यास शुरू करेंगे जबकि बल्लेबाजों के लिए नेट अभ्यास इसके दो सप्ताह बाद शुरू होगा।

भारतीय बल्लेबाजों के दिलों में खौफ पैदा करने वाले इस पेसर को मिला सालाना अनुबंध

समाचार पत्र ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों से कार से यात्रा करने, पानी की चिन्हित की गई बोतल साथ में रखने, नियमित रूप से हाथ धोने, अभ्यास के तुरंत बाद घर लौटने और घर जाकर नहाने के लिए कहा गया है।’’

उन्हें अभ्यास से पहले अपने तापमान की भी जांच करवानी होगी। कोच के साथ उन्हें दो मीटर की दूरी बनाये रखनी होगी और केवल फिजियो ही पीपीई किट पहनकर रखेगा। बल्लेबाज जब नेट पर अभ्यास कर रहा होगा तो उसे स्वयं गेंद नहीं उठानी होगी। उसे जूते से या बल्ले से मारकर उसे कोच तक पहुंचाना होगा।