England to appoint an interim head coach for New Zealand tour
एशले जाइल्स (Getty Images)

इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के डायरेक्टर एशले जाइल्स का कहना है कि आगामी न्यूजीलैंड दौरे के लिए एक अंतरिम कोच की नियुक्ति की जा सकती है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज ड्रॉ होने के साथ ही इंग्लैंड टीम के साथ ट्रेवर बेलिस का कार्यकाल खत्म हो गया। फिलहाल टीम के पास कोई कोच मुख्य नहीं है।

बेलिस के अगुवाई में इंग्लैंड की पुरुष क्रिकेट टीम ने पहला विश्व कप खिताब जीता और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज 2-2 पर खत्म की। इंग्लैंड टीम को नवंबर में न्यूजीलैंड दौरे पर दो टेस्ट और पांच टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है।

जाइल्स ने कहा, “जब हम शॉर्टलिस्ट और इंटरव्यू की तरफ जाते हैं, तो ये हालात पर निर्भर करता है और इन सभी कोचों के साथ अलग अलग हालात होंगे, इसलिए हमने अंतरिम के साथ ही जाना होगा और हम जाएंगे। मैं ये नहीं बताउंगा कि कौन होगा। उम्मीद है कि हमें ऐसा नहीं करना पड़ेगा लेकिन अगले चार साल के लिए सही शख्स को चुनना इससे कहीं ज्यादा जरूरी है।”

दिग्गज गावस्कर बोले- भारत में चैंपियन ढूंढना मुश्किल नहीं

गौरतलब है कि ईसीबी ने कोच पद के लिए खुले तौर पर आवेदन नहीं मांगे हैं लेकिन जाइल्स के पास उम्मीदवारों की लिस्ट है। उन्होंने बताया, “कुछ उम्मीदवार हैं, आप उनके बारे में जानेंगे, मैं पूरी लिस्ट नहीं बताने वाला और कौन मेरा पसंदीदा है या नहीं। कुछ आंतरिक (सदस्य) हैं, कुछ इंग्लिश हैं और कुछ बेहद अच्छे विदेशी (उम्मीदवार) हैं। मैं इसे लेकर उत्साहित हूं, ये एक बड़ी अहम नियुक्ति है।”

बेलिस सभी फॉर्मेट में इंग्लैंड टीम के मुख्य कोच थे। वहीं जाइल्स खुद साल 2012 से 2014 तक सीमित ओवर फॉर्मेट में इंग्लैंड के कोच थे, जबकि एंडी फ्लॉवर इसी दौरान इंग्लैंड टेस्ट टीम के कोच थे। आगे बढ़ते हुए जाइल्स सभी फॉर्मेट में एक कोच वाली नीति को ही बरकरार रखना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि एक आवाज होना जरूरी है लेकिन उस आवाज को स्वीकार करने के लिए घर से दूर के माहौल की जरूरत होगी और आपके पास तीन अच्छे असिसटेंट हैं, ये उन्हें लीडर के तौर पर तैयार करने का अच्छा मौका है। और ये एक निरंतर आवाज होगी क्योंकि खिलाड़ी उसे पहचानते होंगे मैं इसी तरह से सोच रहा हूं।”

ट्राई सीरीज : मोफू के ‘चौके’ और मासाकाद्जा के अर्धशतक से जीता जिम्बाब्वे

कोच के अलावा आगामी सीजन से पहले इंग्लैंड टीम के लीडरशिप ग्रुप में बदलाव से जाइल्स ने इंकार किया। उनका कहना है कि जो रूट और इयोन मोर्गन दोनों ही कप्तान अपने पद पर बरकरार रहेंगे।

हाल ही में विश्व कप जीतने वाले कप्तान मोर्गन के बारे में जाइल्स ने कहा, “हम विश्व कप फाइनल के लगभग एक महीने बाद मिले और वो अपने भविष्य के बारे में सोचने के लिए थोड़ा समय चाहता था जो कि मोर्ग्स के काम करने का तरीका है। वो बेहद समझदार है और तार्किक सोच रखता है और शुक्र है कि उसने मुझे कुछ हफ्ते बाद कॉल किया और कहा कि ‘मैं आगे बढ़ने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हूं और तरोताजा हूं।”

क्रिकेट थीम वाले रेस्टोरेंट में कोहली, धोनी सहित 100 खिलाड़ियों के ऑटोग्राफ

वहीं टेस्ट कप्तान रूट जो कि एशेज सीरीज के दौरान आलोचकों के निशाने पर थे, उनके बारे में जाइल्स ने कहा, “मुझे लगता है कि जो को ऐसे कोच की जरूरत है जो कि उसे थोड़ी और संरचना और अनुशासन दे सके। मैं छड़ी वाले अनुशासन की बात नहीं कर रहा, लेकिन थोड़ा और संगठन और उसके साथ मिलकर टीम की जड़ और वो क्या हासिल करना चाहते हैं इस पर काम करे, इसलिए ये काफी मुश्किल संतुलन है।”

जाइल्स ने साफ किया कि टेस्ट कप्तान और कोच का प्रमुख लक्ष्य 2020-21 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले एशेज सीरीज जीतकर ट्रॉफी वापस इंग्लैंड लाने का होगा।