England vs India, 4th Test: Nasser Hussain says, Joe Root’s tactics on a flat pitch were mystifying

England vs India, 4th Test: भारत के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के चौथे दिन इंग्लैंड के कप्तान जो रूट मोइन अली के बजाय जेम्स एंडरसन और ओली रॉबिंसन से गेंदबाजी कराते रहे. रूट की इस रणनीति से इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन हैरान हैं. हुसैन ने डेली मेल के लिए अपने कॉलम में कहा, लंच और चाय के बीच रूट की रणनीति से हैरान हूं. इस समय दुनिया की हर टीम अपने फ्रंटलाइन स्पिनर को गेंदबाजी देती पर इसके बजाय, रूट ने तेज गेंदबाज एंडरसन और ओली रॉबिन्सन को गेंदबाजी करना ठीक समझा, जो मेरे हिसाब से सही फैसला नहीं था. हुसैन ने कहा कि अन्य कोई टीम अपने मुख्य स्पिनर को समान परिस्थितियों में अधिक गेंदबाजी करती.

हुसैन ने कहा, यह भी सच है कि मोइन ने इस सीजन में लाल गेंद से बहुत कम गेंदबाजी की है. लेकिन ऐसा लगता है कि हमारे टीम में स्पिन गेंदबाजी पर इतना विश्वास नहीं किया जाता है. अगर ऑस्ट्रेलिया खेल रहा होता, तो इसमें कोई संदेह नहीं है कि नाथन लियोन उसी स्थिति में अपनी ऑफ ब्रेक गेंदबाजी कर रहे होते. अगर वेस्टइंडीज होती, तो हम रोस्टन चेज को देख रहे होते.

हुसैन ने खुलासा किया कि उन्होंने एंडरसन के साथ बातचीत की और महसूस किया कि एक स्पिनर को गेंद दिए जाने के लिए परिस्थितियां अनुकूल थीं. हुसैन ने कहा, “मैंने रविवार की सुबह एंडरसन से बात की और उन्होंने कहा कि कोई स्विंग नहीं है, कोई के तेजी नहीं है और वहां कोई रिवर्स भी नहीं था, क्योंकि आउटफील्ड इतना हरा-भरा है, इसलिए एक तरफ गेंद को खुरदरा नहीं किया जा सकता है.”

53 वर्षीय हुसैन ने अंत में कहा, जब रूट ने आखिरकार मोइन और खुद को गेंदबाजी कराई इसके बाद उन्हें लगातार विकेट मिले. अगर यह काम वह पहले करते तो उन्हें और जल्दी सफलता मिलती.