English Coach Trevor Bayliss hope Jason Roy will solve top order problems
जेम्स रॉय (Twitter)

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कोच ट्रेवर बेलिस को उम्मीद है कि आयरलैंड के खिलाफ लॉर्ड्स मैच में टेस्ट डेब्यू करने वाले जेसन रॉय शीर्ष क्रम की परेशानियों को हल कर सकते हैं। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले एशेज टेस्ट के लिए चुनी 14 सदस्यीय टीम में रॉय को शामिल किया है।

शीर्ष क्रम की परेशानियों के बारे में कोच बेलिस ने कहा, “ये समझने के लिए आपको आइंस्टाइन होने की जरूरत नहीं है। ये परेशानी पिछले 6-7 साल से है लेकिन इसने हमें (एशेज जीतने से) चार साल पहले नहीं रोका था।”

विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करने के बाद टेस्ट कैप हासिल करने वाले रॉय को लेकर कोच ने कहा, “किसी भी डेब्यू करने वाले खिलाड़ी की तरह वो नर्वस था लेकिन उसने अपने पहले मैच में 70 के करीब रन बनाए जो अच्छी कोशिश थी। इस विकेट में उन विकेटों से ज्यादा हरकत थी जिन पर वो सीमित ओवर फॉर्मेट में खेलता है लेकिन रन तो रन होते हैं। वो पहला खिलाड़ी नहीं होगा जो परेशानी में दिखा, ये अच्छा संकेत है।”

‘रहाणे, रायडू को विश्व कप टीम से बाहर रखना गलत था’

बेलिस ने आगे कहा, “हम चाहते हैं कि वो मैदान पर जाए और अपना स्वाभाविक खेल खेले लेकिन टेस्ट फॉर्मेट में आपको थोड़ा और सेलिक्टिव होना पड़ता है। आपको अपने आप से ये कहना होता है ‘जब मैं सेट नहीं हो जाता हूं मैं बड़ी कवर ड्राइव नहीं खेलूंगा, चाहे विकेट सपाट हो या गेंद ज्यादा हरकत नहीं कर रही हो’। जेसन थोड़ा मुश्किल में दिखा लेकिन उसने 72 रन बनाए और हमें मैच जीतने में मदद की।”

रॉय के अलावा कप्तान जो रूट भी शीर्ष क्रम के अहम बल्लेबाज हैं। हालांकि उनके बल्लेबाजी क्रम को लेकर बहस अब भी जाती है। रूट नंबर चार पर बल्लेबाजी करना पसंद करते हैं लेकिन उनके जैसे बल्लेबाजा का नंबर तीन पर खेलना टीम के लिए फायदेमंद होगा। कोच बेलिस का भी यही मानना है लेकिन उन्होंने आखिरी फैसला कप्तान पर ही छोड़ा है।

ईश सोढ़ी ने रचा इतिहास, लिया GT20 कनाडा का पहला 5-विकेट हॉल

रूट के बल्लेबाजी क्रम पर बेलिस ने कहा, “जो को पता हैं कि मैं क्या सोच रहा हूं। ये पिछले कई सालों से मेरा विचार रहा है (कि रूट को नंबर तीन पर बल्लेबाजी करनी चाहिए)। लेकिन वो कप्तान है और आखिरी फैसला वही लेगा।”