इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरिसन ने बुधवार को ये ऐलान किया कि वो कोरोना वायरस से हुए आर्थिक नुकसान की भरपाई के लिए अपनी सैलरी में 25 प्रतिशत कटौती करवाने के लिए तैयार हैं।

मंगलवार को हैरिसन ने ईसीबी की ओर से कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए 61 मिलियन पाउंड के पैकेज का ऐलान किया था। साथ ही उन्होंने कहा कि वो अपनी सैलरी में भी कटौती करवा सकते हैं। बुधवार को उन्होंने सारी जानकारी सामने रखी।

बोर्ड के आधिकारिक बयान के मुताबिक, “प्रस्ताविक कटौती हर कर्मचारी के पे-ग्रेड के हिसाब से अलग होगी, जो कि 10 से 25 प्रतिशत तक हो सकती है।” ईसीबी ने ये भी बताया कि ये कटौती अगले दो महीनों की सैलरी में की जा सकती है।

बयान में आगे कहा गया, “एक्सक्यूटिव मैनेजमेंट टीम और बोर्ड की सैलरी में 20 प्रतिशत की कटौती की जाएगी, जबकि हमारे मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरिसन अपनी सैलरी से 25 प्रतिशत राशि कम करवाने के लिए खुद आगे आए हैं।”

आंकड़ों की बात करें तो हैरिसन की सैलरी 720,000 पाउंड है जो कि 25 प्रतिशत कटौती के बाद करीबन 540,000 पाउंड हो जाएगी।

ईसीबी केवल प्रशासकों ही नहीं बल्कि खिलाड़ियों की सैलरी पर भी कैची चला सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक पेशेवर क्रिकेट 28 मई तक पूरी तरह रद्द होने के बाद जो रूट, बेन स्टोक्स और जोस बटलर जैसे खिलाड़ियों के सालाना कॉन्ट्रेक्ट की राशि कम हो सकती है।