इंग्लिश क्रिकेटर ने BCCI को लगाई लताड़, ‘महिला क्रिकेट पर ध्‍यान देते तो पुरुषों के बराबर खड़ी होती’
Indian Women Team @ Twitter

इंग्लैंड की पूर्व क्रिकेटर ईशा गुहा (Isa Guha) ने रविवार को कहा कि पुरुष और महिला क्रिकेट के बीच अब भी असमानता मौजूद है लेकिन उम्मीद जताई कि अगर पुरुष समकक्षों के बराबर ध्यान दिया जाए तो भारत की महिला टीम भी उतना ही अच्छा प्रदर्शन कर सकती है।

इशा ने कुछ ट्वीट करके उन विभाग का जिक्र किया जिन पर खेल के हितधारकों को काम करने की जरूरत है जिससे कि समानता हासिल की जा सके। उन्होंने साथ ही कहा कि महिला खेल के कल्याण के लिए मजबूत खिलाड़ी संघ होना जरूरी है।

क्रिकेट फैंस को बड़ा झटका, Asia Cup साल 2023 तक स्थगित

ईशा गुहा (Isa Guha) ने ट्वीट किया, ‘‘महिलाओं को प्रगति के लिए आभारी महसूस कराया जाता है लेकिन बराबरी हासिल करने के लिए काफी काम करने की जरूरत है (और सिर्फ वेतन की समानता नहीं)। इसके लिए खिलाड़ी संघ अहम हिस्सा हैं। भारतीय महिला टीम दबदबा बनाएगी जब उनके खेल पर भी उतना ध्यान दिया जाएगा जितना पुरुषों पर दिया जाता है।’’

WTC 2021 फाइनल में Monty Panesar ने इस भारतीय गेंदबाज को बताया X-Factor, बोले- बदल देगा मैच का रुख

ईशा गुहा (Isa Guha) ने लिखा, ‘‘पुरुष खिलाड़ी अलग स्तर के हैं लेकिन फिर भी खिलाड़ियों कल्याण के लिए जमीनी स्तर पर समानता होनी चाहिए। भुगतान/अनुबंध का समय, समर्थन के लिए अच्छा नेटवर्क, अच्छा घरेलू ढांचा, मातृत्व प्रावधान, संन्यास की योजना जैसी चीजें खिलाड़ी संघ के जरिए हासिल की जा सकती है।’’