English pitches are suiting Australia more than us, says James Anderson
जेम्स एंडरसन (Getty images)

चोट के चलते एशेज सीरीज से बाहर चल रहे तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन का कहना है कि इंग्लैंड की पिचें मेजबान टीम से ज्यादा ऑस्ट्रेलिया के लिए मददगार साबित हो रही हैं।

मैनचेस्टर टेस्ट में जीत दर्ज करने के साथ ही ऑस्ट्रेलिया टीम ने सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल कर ली है और एशेज ट्रॉफी रीटेन कर ली है। इंग्लैंड के पास ओवल टेस्ट सीरीज जीतकर सीरीज बराबर करने का मौका है लेकिन ‘अर्न’ ऑस्ट्रेलिया के कब्जे में ही रहेगी।

एंडरसन ने जब पूछा गया कि क्या इंग्लैंड को घरेलू मैदान का फायदा मिल रहा है, तो उन्होंने कहा, “अगर मैं ईमानदारी से कहूं तो नहीं। मुझे लगता है कि हमने ज्यादा ये पिच ऑस्ट्रेलिया के अनुकूल हैं। मैं थोड़ी और घास देखना पसंद करता लेकिन यहां पर खेल की यही प्रकृति है।”

सैंट किट्स ने जमैका को हरा दर्ज की टी20 की दूसरी सबसे सफल चेज

इंग्लिश गेंदबाज ने आगे कहा, “जब आप खेल को बेचने की कोशिश कर रहे होते हैं- जैसे लंकाशायर पांच दिवसीय टेस्ट क्रिकेट देने की कोशिश करता है- ऐसे में सपाट पिच ना बनाना मुश्किल होता है लेकिन ये बतौर खिलाड़ी ये चीज परेशान करने वाली हैं। हम ऑस्ट्रेलिया जाते हैं और उनके अनुकूल पिच मिलती हैं। वो यहां आते हैं तो उन्हें अपने अनुकूल पिच मिलती है। ये सही नहीं है।”

एंडरसन ने कहा कि इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड घरेलू हालातों का फायदा पूरी तरह से नहीं उठाता है। उन्होंने कहा, “पिछले साल मुझे लगता है कि भारत के खिलाफ पिच अच्छी थी। मेरा मानना है कि वो ज्यादा ग्रीन सीमर्स नहीं थी लेकिन मुझे लगा कि वो भारत से ज्यादा हमारे अनुकूल थी। हम, बतौर टीम और क्रिकेट टीम घरेलू हालातों का पूरा फायदा नहीं उठाते हैं। जैसा कि मैंने कहा, जब हम ऑस्ट्रेलिया जाते हैं, भारत या श्रीलंका जाते हैं तो वो अपने अनुकूल पिच तैयार करते हैं। मुझे लगता है कि हम टीम के प्रति थोड़ा पक्षपात दिखा सकते हैं।”

मुख्‍य कोच बोले- हार के बावजूद दबाव में नहीं हैं जो रूट

पिच को ऑस्ट्रेलिया के अनुकूल बताने के बावजूद एंडरसन ने कंगारू गेंदबाजों की तारीफ की। उन्होंने टेस्ट रैकिंग में नंबर एक पर मौजूद तेज गेंदबाज पैट कमिंस को विश्व का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बताया।

उन्होंने कहा, “उनके गेंदबाज निरंतर रहे हैं। पैट कमिंस विश्व का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज हैं क्योंकि वो 85 (किमी प्रति घंटे) की रफ्तार से ऑफ स्टंप के टॉप को हिट करता है और उसके पास बाउंसर फेंकने का अच्छा प्लान बी है। वो काफी साधारण चीजें करते हैं लेकिन ये प्रभावी साबित होती हैं क्योंकि वो लगातार वहीं करते हैं।”

एशेज सीरीज का आखिरी मैच में 12 सितंबर से केनिंग्टन ओवल लंदन में खेला जाएगा, जहां ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन के पास इतिहास रचने का मौका होगा, जबकि जो रूट सीरीज हार बचाने के इरादे से उतरेंगे।