Eoin Morgan bats for T10 format in Olympics
Eoin Morgan

इंग्लैंड की वनडे क्रिकेट टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने कहा है कि ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल करने के लिए टी-10 सर्वश्रेष्ठ प्रारूप है। क्रिकेट 1900 से ओलंपिक का हिस्सा नहीं है। तब ग्रेट ब्रिटेन ने फ्रांस को हराकर ओलंपिक में क्रिकेट का स्वर्ण पदक जीता था।

1998 राष्ट्रमंडल खेलों में 50 ओवरों के प्रारूप को शामिल किया गया था, जहां दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर गोल्ड पर कब्जा जमाया था।

ब्रैड हॉग ने टेस्ट चैंपियनशिप को खत्म कर भारत-पाक और एशेज सीरीज के आयोजन की मांग की

मोर्गन का तर्क है कि छोटा प्रारूप प्रशंसकों को स्टेडियम की ओर लेकर आएगा और कहा कि टी-10 टूर्नामेंट 10 दिन में खत्म हो जाएगा जिससे ओलंपिक और राष्ट्रमंडल खेल जैसे खेलों के लिए यह सर्वश्रेष्ठ होगा।

मोर्गन ने ईएसपीएनक्रिकइंफो के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘टी-10 प्रारूप के साथ बाकी तीनों प्रारूपों की तुलना में एक फायदा यह है कि यह ओलंपिक और राष्ट्रमंडल खेलों के लिए सबसे सही है। वो इसलिए क्योंकि आप पूरा टूर्नामेंट 10 दिन में खेल सकते हैं।’

COVID-19 महामारी के बीच अध्यक्ष संगकारा को दूसरे कार्यकाल की पेशकश करेगा MCC

बकौल मोर्गन, ‘इतने कम समय में टूर्नामेंट होना खेलों में आने का मौके को ज्यादा बढ़ा देगा। जब आप 8-10 दिन में क्रिकेट खेलते हैं तो यह काफी आकर्षक होता है और सबसे अच्छी बात, यह काफी रोचक भी होता है।’ गौरतलब है कि क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल करने को लेकर समय-समय पर मांग उठती रही है। कई खिलाड़ियों ने टी-20 क्रिकेट को इस खेलों के महाकुंभ में शामिल करने की बात कही है।