Eoin Morgan: I prefer tri-series to bilaterial series
EOIN MORGAN © Getty Images

भारत के खिलाफ दूसरे वनडे में जीत हासिल कर सीरीज में वापसी करने वाली इंग्लैंड टीम के कप्तान इयोन मॉर्गन ने बताया कि वो बाईलैटरल सीरीज के खास फैन नहीं है। मॉर्गन ने कहा, “मैं बाईलैटरल सीरीज का बड़ा फैन नहीं हूं। इस तरह का मैच हमारे लिए अहम है। मैं ट्राई सीरीज ज्यादा पसंद करता हूं। हर मैच की अपनी अलग अहमियत होती है।”

बाईलैटरल सीरीज में कम दबाव होता है

मॉर्गन मानते हैं कि बाईलैटरल सीरीज में प्वाइंट और रैंकिंग हासिल करने की होड़ लगी रहती है। उनका कहना है कि इन मैचों में बड़े टूर्नामेंट जैसा दबाव नहीं होता। मौजूदा आईसीसी वनडे रैंकिंग में नंबर एक पर बनी हुई इंग्लैंड को 2019 विश्व कप में मिलने वाले फायदे पर मॉर्गन ने कहा, “नहीं, बिल्कुल भी नहीं। राउंड रॉबिन के साथ अब विश्व कप का फॉर्मेट अब बिल्कुल बदल गया है। आपके ढेर सारे मैच खेलने होते हैं और मैच के दिन अच्छा प्रदर्शन करना पड़ता है।”

कुलदीप के खिलाफ जो रूट की तकनीक सही

सीरीज का तीसरा वनडे लीड्स में कल खेला जाएगा। मैच से पहले इंग्लिश बल्लेबाज कुलदीप के खिलाफ खास तैयारी कर रहे हैं। इस भारतीय स्पिन गेंदबाज ने पहले वनडे में 6 और दूसरे मैच में 3 विकेट चटकाए थे। कप्तान मॉर्गन ने कहा, “हालात को देखते हुए, कुलदीप अच्छी गेंदबाजी करेगा, हमे केवल सही मानसिक स्थिति में खेलना है। हमने उसके खिलाफ शुरुआती अच्छी की थी और हम उसके खिलाफ जितना ज्यादा खेलेंगे, उसे पढ़ना उतना आसान हो जाएगा। लेकिन आपको उसके खिलाफ अच्छा खेलना है। मुझे लगता है जो ऐसा करने में कामयाब रहा, स्ट्राइक रोटेट किया और अपना दिमाग शांत रखा। हमने अपने बेसिक अच्छे से किए। ये बेहतर था।”

India lost hopes to become number one in ICC Odi ranking
India lost hopes to become number one in ICC Odi ranking

क्यों किया था पहले बल्लेबाजी का फैसला

लॉर्ड्स के मैदान पर जब मॉर्गन ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया तो भारतीय कप्तान विराट कोहली काफी खुश थे। लेकिन वो ये भूल गए कि ये मॉर्गन का घरेलू मैदान है वो इसे बेहतर तरीके से जानते थे। मॉर्गन ने इस बारे में कहा, “पिच पर लगभग 4 मिमी घास थी जबकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेल में लगभग 8 मिमी थी, जो काफी महत्वपूर्ण है।”

धोनी के खिलाफ हूटिंग पर मॉर्गन का बयान

रनों का पीछा करने समय भारतीय बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को दर्शकों की ओर से हूटिंग का सामना करना पड़ा। इस बारे में मॉर्गन ने कहा, “ये भारत में काफी ज्यादा होता है या जब भी आप एक बड़े भारतीय दर्शक समूह के सामने खेल रहे हो। आपको इस तरह की प्रतिक्रिया मिलती है। इसलिए जब आप बाउंड्री लगाते हैं या विकेट लेते हैं तो दर्शक शांत पड़ जाते हैं। और जब आप जीत रहे होते हो तो स्टेडियम आधा खाली हो जाता है।”