ऑइन मॉर्गन  © Getty Image
ऑइन मॉर्गन © Getty Image

इंग्लैंड पिछले कुछ समय से बेहतरीन फॉर्म में चल रही है और लीग स्टेज में तीन मैच जीतने के साथ ही चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में जगह बनाई है। इस दौरान टीम के हर विभाग ने जानदार प्रदर्शन किया। पहले दो मैचों में जहां एलेक्स हेल्स और जो रूट ने रनों का अंबार लगाया। वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में ऑइन मॉर्गन, बेन स्टोक्स व जोस बटलर ने अपना जौहर दिखाया। उनके सामने एक ही चिंता की बात है और वह है ओपनर जेसन रॉय की फॉर्म। ऐसे में जब इंग्लैंड सेमीफाइनल में खेलने उतरेगी तो रॉय का अंतिम एकादश में जगह बनाना कठिन होगा।

वैसे इंग्लैंड टीम के पूर्व कप्तान इयान बेल टीम की इस सफलता के लिए खूब प्रशंसा कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने खासतौर पर स्टोक्स की की जमकर तारीफ की। स्टोक्स ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐसे समय में शतक लगाया जब इंग्लैंड के 33 रनों पर चार विकेट गिर चुके थे। बेल ने कहा, “स्टोक्स के बारे में मैं और क्या कहूं जो पहले से कहा नहीं गया। एक बार उन्होंने फिर से जता दिया कि क्यों बहुत से लोग उन्हें दुनिया का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी कह रहे हैं। उनके ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 102 नाबाद बहुत- बहुत स्पेशल थे।” बेल ने यह बात आईसीसी को लिखे एक कॉलम में कही।

बेल ने अपने आर्टिकल में आगे लिखा है कि हम इंग्लैंड के बारे में और क्या कह सकते हैं। मैंने अपने अंतिम कॉलम में कहा था कि बेस्ट तो अभी आने वाला है और अच्छी बात ये है कि शनिवार की जीत के बावजूद, मुझे लगता है कि वह चीज अभी भी लागू होती है। इस कॉलम को लिखते हुए मुझे हंसी आ रही है कि हमने नॉक आउट मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराते हुए बाहर किया है। इस तरह ऑस्ट्रेलिया इस टूर्नामेंट में कोई जीत हासिल नहीं कर पाई। इस तरह हमने एक ऐसी टीम के रूप में सेमीफाइनल में प्रवेश किया है जिसका 100 प्रतिशत रिकॉर्ड है। मुझे लगता है कि हम अभी और बेहतर हो सकते हैं। इंग्लैंड को जहां होना चाहिए था वह अभी वहां नहीं है। मुझे मालूम है कि हमारी टीम अतिउत्साही नहीं होगी और अगले मैच के लिए ध्यान केंद्रत करेगी। लेकिन खिलाड़ी अबतक अपने प्रदर्शन से खुश जरूर हो सकते हैं।  [भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका, फुल स्कोरकार्ड जानने के लिए क्लिक करें]

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खराब शुरुआत के बाद मैं थोड़ा परेशान होने लगा था। इसी बीच स्टोक्स और मॉर्गन ने सपनों सरीखी साझेदारी निभाई इस तरह दोनों ने ऑस्ट्रेलिया की रही सही कमर तोड़ दी। मैं इस मैच को लाइव देखकर अपने आपको सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं। और मुझे यकीन है कि जितना मैंने इस मैच का आनंद लिया उतना ही एजबेस्टन के लोगों ने भी लिया होगा। स्टोक्स ने अपना अर्धशतक 39 गेंदों में लगाया। इस दौरान उन्होंने 20 गेंदें डॉट खेलीं। इस तरह से उन्होंने 19 गेंदों में शतक जमाया।यह बेहतरीन पारी थी। मैच के बाद मुझे बताया गया कि इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा अर्धशतक (39) लगाने के मामले में मॉर्गन मेरी बराबरी पर है। मुझे नहीं लगता कि वह ज्यादा दिन तक बराबरी पर रहेंगे वह जल्दी ही आगे निकल जाएंगे। आजकल जो भी वे छू रहे हैं वह सोना बन रहा है और यह उनके द्वारा की जा रही मेहनत का फल है।