दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया था © AFP & Getty Images
दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया था © AFP & Getty Images

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फैफ डुप्लेसी ने बेंगलुरू टेस्ट मैच के दौरान खड़े हुए निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) के विवाद पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई न होने पर हैरानी जताई है। डुप्लेसी को हैरानी इस बात पर अधिक हुई है कि इस मुद्दे के बाद आईसीसी की आचार संहिता के किसी भी उल्लंघन के तहत न तो भारतीय कप्तान विराट कोहली और न ही ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ पर जुर्माना लगाया गया।डुप्लेसि ने कहा, “मै हैरान हूं कि इस घटना के बाद किसी पर भी जुर्माना नहीं लगाया गया। आईसीसी की ओर से मिली प्रतिक्रिया अलग थी।” दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने कहा, “हमारा और न्यूजीलैंड टीम के क्रिकेट खेलने का तरीका एक जैसा है। हम मैदान पर एक दूसरे का सम्मान करते हैं। अगर आप भारत या ऑस्ट्रेलियाई जैसी टीमों के साथ खेलते हैं, तो ऐसी घटना होना आम बात है।” ये भी पढ़ें: दूसरे टेस्ट में मिली जीत से अतिउत्साहित टीम इंडिया को ये भूल पड़ सकती है भारी

उल्लेखनीय है कि बेंगलुरू टेस्ट के चौथे दिन मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के दौरान स्मिथ, उमेश यादव की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए, लेकिन सीधे पवेलियन लौटने या डीआरएस की मांग करने की बजाए स्मिथ और हैंड्सकॉम्ब ऑस्ट्रेलियाई ड्रेसिंग रूम से संकेत मांगते नजर आए। मैदान पर मौजूद अंपायर निजेल लोंग ने स्मिथ को ऐसा करने से रोका भी। इस बीच कोहली और स्मिथ के बीच वाकये को लेकर कहासुनी भी हो गई। ऑस्ट्रेलिया यह मैच भारत के हाथों 75 रन से हारा। मैच के बाद स्मिथ ने घटना को ‘दिमाग से उतर जाना’ कहकर अपना बचाव किया, लेकिन कोहली ने स्मिथ के बयान पर असहमति जताते हुए कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने लगातार तीन बार ऐसा किया। आपको बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीत चार मैचों की टेस्ट सीरीज एक-एक की बराबरी पर है और सीरीज का तीसरा मुकाबला रांची में 16 मार्च से खेला जाना है।