साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf Du Plessis) ने अपने क्रिकेट जीवन की एक खौफनाक पल की यादें ताजा की हैं. डुप्लेसिस ने वर्ल्ड कप 2011 में क्वॉर्टर फाइनल मैच में न्यूजीलैंड से हारने से जुड़ी इस घटना का जिक्र किया है. उन्होंने बताया कि जब साउथ अफ्रीका की टीम कीवी टीम के खिलाफ यह मैच हार गई थी, तो उसके बाद उन्हें और उनकी पत्नी को मौत की धमकी मिली थी.

2011 का वर्ल्ड कप भारत-बांग्लादेश और न्यूजीलैंड में आयोजित हुआ था. टूर्नामेंट का यह क्वॉर्टर फाइनल मैच बांग्लादेश में ढाका के शेर-ए-बांग्ला नेशनल स्टेडियम में खेला गया, जहां साउथ अफ्रीकी टीम 222 रन का लक्ष्य का पीछा नहीं कर पाई और 49 रनों से यह मैच हार गई. ग्रीम स्मिथ की अगुवाई वाली यह टीम सिर्फ 172 रनों पर सिमट गई, जबकि उसकी पारी में अभी 40 बॉलें और फेंकी जाना बाकी थीं.

उस मैच में छठे नंबर पर उतरे डुप्लेसिस ने 43 बॉल की अपनी पारी में 36 रनों का योगदान जरूर दिया. लेकिन वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए. मैच में हार के दुख के साथ-साथ उनकी घबराहट तब और बढ़ गई, जब सोशल मीडिया पर उन्हें और उनकी पत्नी को जान से मारने की धमकी मिलने लगी.

इस खौफनाक घटना को याद करते हुए डुप्लेसिस ने ईएसपीएन क्रिकेइन्फो के एक मासिक पत्रिका को बताया, ‘उस मैच में हार के बाद मुझे मौत की धमकियां मिल रही थीं. मेरी पत्नी को मौत की धमकियां मिल रही थीं. हमने सोशल मीडिया चलाया तो यहां हम पर खूब हमले हो रहे थे. ये बेहद निजी हो चुके थे. तब वहां ऐसी अपराधजनक बातें हमें कही गईं, जिसका मैं यहां जिक्र नहीं कर सकता.’

36 वर्षीय डुप्लेसिस ने कहा, ‘इस घटना से लोगों के प्रति आप अंतर्मुखी बन जाते हैं. टीम के सभी खिलाड़ी ऐसी ही चीजों का सामना कर रहे थे, जिसने हमें हमारा दायरा सीमित रखने के लिए प्रेरित किया. इसके बाद से मैं अपना दायरा बहुत छोटा और सीमित रखता हूं.