Breaking News

    हार से परेशान फाफ डु प्लेसिस ने टेस्ट क्रिकेट से टॉस को हटाने के दे डाले सुझाव

    हार से परेशान फाफ डु प्लेसिस ने टेस्ट क्रिकेट से टॉस को हटाने के दे डाले सुझाव

    दक्षिण अफ्रीकी कप्तान डु प्लेसिस एशिया में लगातार 10 टॉस हारने का अनचाहा रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं

    Updated: October 28, 2019 10:03 AM IST | Edited By: CricketCountry Staff
    भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ने हाल में दक्षिण अफ्रीका (South Africa Cricket Team) को घरेलू टेस्ट सीरीज में 3-0 से सफाया किया था।  स्वदेश लौटने के बाद मेहमान टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस (Faf Du Plessis) काफी परेशान हैं। पढ़ें: Adelaide T20: 'बर्थडे ब्वॉय' वॉर्नर का टी-20 में पहला शतक, ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को 134 रन से रौंदा डु प्लेसिस भारतीय दौरे पर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में टॉस  (TOSS) जीतने में असफल रहे।  वह एशिया में लगातार 10 बार टॉस हारने वाले कप्तान बने।  ऐसे में डु प्लेसिस ने अब सुझाव दिया है कि टेस्ट क्रिकेट में टॉस खत्म कर देना चाहिए। डुप्लेसी ने स्वीकार किया है कि भारत दौरे पर उनकी टीम में मानसिक दृढता की कमी थी।  उन्होंने कहा कि तीनों मैच में टॉस हारने से मुश्किल दिख रहा काम नामुमकिन हो गया। बकौल डु प्लेसिस, ‘हर टेस्ट में उन्होंने पहले बल्लेबाजी की और 500 रन बना डाले।  अंधेरा होने के समय उन्होंने पारी घोषित की और तीन विकेट ले डाले।  ऐसे में तीसरे दिन आप पर दबाव रहता है।  हर टेस्ट मानो ‘कॉपी और पेस्ट’ हो गया था। ’ पढ़ें: KPL: फिक्सिंग के आरोप में गेंदबाजी कोच और बल्लेबाज गिरफ्तार उन्होंने कहा कि टॉस खत्म कर देने से टीमों को विदेशी सरजमीं पर बेहतर तरीके से खेल पाने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा,‘हमने जिस तरीके से आखिरी टेस्ट खेला, उससे यह जाहिर था हमने शुरुआत अच्छी की लेकिन सीरीज में लंबे समय तक दबाव में रहने के बाद हम बहुत बुरा खेलने लगे। भारतीय गेंदबाजों के सामने दक्षिण अफ्रीका का कोई भी बल्लेबाज टिककर नहीं खेल सका।  हालांकि ओपनर डीन एल्गर (Dean Elgar) और क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) ने जरूर शतककीय पारी खेली। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज भी छाप छोड़ने में असफल रहे।    
    Advertisement