Breaking News

    देश से ज्यादा विदेशी लीग को तरजीह, 49 फीसदी क्रिकेटर खेलना चाहते हैं बाहर, फिका की रिपोर्ट में खुलासा

    देश से ज्यादा विदेशी लीग को तरजीह, 49 फीसदी क्रिकेटर खेलना चाहते हैं बाहर, फिका की रिपोर्ट में खुलासा

    भारत के खिलाड़ी फिका के दायरे में नहीं आते इसलिए इस सर्वे में भारतीय क्रिकेटर शामिल नहीं हैं.

    Updated: November 29, 2022 8:05 PM IST | Edited By: Akhilesh Tripathi
    अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों के संघ के महासंघ फिका ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा है कि भारत को छोड़कर बड़ी संख्या में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर अपने देश का केंद्रीय अनुबंध ठुकराकर दुनिया भर की टी20 लीग में खेलने के लिए तैयार हैं. भारत के खिलाड़ी फिका के दायरे में नहीं आते इसलिए इस सर्वे में भारतीय क्रिकेटर शामिल नहीं हैं.

    नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार कि अगर घरेलू लीग में खेलने के लिए अधिक राशि मिलती है तो 49 प्रतिशत खिलाड़ी केंद्रीय अनुबंध ठुकराने पर विचार कर सकते हैं.

    वहीं इस तरह की बहस चल रही है कि 50 ओवर का क्रिकेट तेजी से अपना संदर्भ खो रहा है और इस सर्वेक्षण से सुझाव मिलता है कि ऐसे क्रिकेटरों के प्रतिशत में गिरावट आई है जिन्हें अब भी लगता है कि एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय विश्व कप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के कैलेंडर की सबसे महत्वपूर्ण प्रतियोगिता है.

    रिपोर्ट के अनुसार 54 प्रतिशत को अब भी लगता है कि 50 ओवर का विश्व कप आईसीसी की शीर्ष प्रतियोगिता है, हालांकि इस प्रतिशत में काफी गिरावट आई है जो 2018-19 के फिका सर्वे के अनुसार 86 प्रतिशत थी.

    रिपोर्ट के अनुसार आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष नौ में शामिल टीमों ने 2021 में औसत 81.5 दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला जबकि 10वें से 20वें स्थान की टीम के लिए यह औसत 21.5 दिन रहा. वर्ष 2021 में 485 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले गए जो कोविड-19 के बीच 2020 में हुए 290 मुकाबलों की तुलना में 195 अधिक हैं. यह आंकड़ा हालांकि 2019 में दुनिया भर में हुए 522 मैच से कम है.

    मोहम्मद रिजवान 2021 में 80 कैलेंडर दिन खेलकर सबसे अधिक दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ी रहे. भारतीय क्रिकेटरों में ऋषभ पंत 75 दिन के साथ शीर्ष पर रहे. जो रूट 2021 में 78 दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेली.

    इनपुट- पीटीआई भाषा 
    Advertisement