© AFP
© AFP

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार से शुरू होने जा रही एशेज सीरीज के पहले रैंकिंग के समीकरण को लेकर अभी से घोषणा कर दी है। इंग्लैंड मौजूदा समय में तीसरे नंबर पर है और वे अपनी चिर प्रतिद्वंदी ऑस्ट्रेलिया से 8 अंक आगे हैं। ऑस्ट्रेलिया पांचवें नंबर पर है। बहरहाल, अगर ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड को पांच मैचों की सीरीज 2-0 या उससे बेहतर अंतर से हरा देती है तो वे इंग्लैंड को पीछे छोड़ देगी। अगर ऑस्ट्रेलिया साल 2013 की तरह इंग्लैंड को 5-0 से हराने में सफल हो जाती है तो वे 106 रेटिंग अंकों के साथ पांचवें स्थान पर पहुंच जाएंगे लेकिन इससे इंग्लैंड को बहुत घाटा होगा और वे 7 अंक गंवाते हुए 98 रेटिंग अंकों तक पहुंच जाएंगे।

मौजूदा परिदृश्य के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया अगर सीरीज जीतती है तो उसे ज्यादा अंक मिलेंगे। ऐसे में इंग्लैंड को इस बात का खासा खयाल रखना होगा कि वे सीरीज न हारें। अगर वे सीरीज को ड्रॉ कराने में सफल होते हैं तो वे सिर्फ तीसरे स्थान पर ही बरकरार नहीं रहेंगे बल्कि एशेज सीरीज को एक बार फिर से जीतने में सफल रहेंगे।

क्या होगा अगर इंग्लैंड जीतेगी सीरीज?

अगर इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया को हैरान करते हुए सीरीज जीतती है तो वे दूसरे नंबर पर मौजूद द. अफ्रीका के करीब पहुंच जाएंगे। अगर इंग्लैंड ऑस्ट्रेलिया को 5-0 से हराती है तो उन्हें 5 अंक मिलेंगे और ऑस्ट्रेलिया को 6 अंकों का घाटा होगा और उनके 91 अंक हो जाएंगे, ये उनकी इस दशक में सबसे कम रैंकिंग होगी। जहां तक व्यक्तिगत रिकॉर्ड्स की बात करें, स्टीवन स्मिथ और जो रूट क्रमशः पहले और दूसरे पायदान पर बने हुए हैं। लेकिन स्मिथ को रूट पर 47 अंकों की लीड प्राप्त है। ऑस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वॉर्नर ही एकमात्र बल्लेबाज हैं जो अंडर-10 में हैं, वह छठवें नंबर पर पर हैं। वैसे ही जो रूट के अलावा, एलिस्टर कुक टॉप 10 में हैं और वह 10वें नंबर पर ही हैं।

'10 साल बड़े दिनेश कार्तिक का दिमाग है हार्दिक पांड्या के बराबर'
'10 साल बड़े दिनेश कार्तिक का दिमाग है हार्दिक पांड्या के बराबर'

गेंदबाजी की बात करें तो जेम्स एंडरसन टॉप पर हैं और वे इसी पोजीशन पर कम से कम सीरीज के खत्म होने तक तो बने रहना चाहेंगे। जोश हेजलवुड और नाथन लायन छठवें और सातवें स्थान पर हैं। पहला टेस्ट 23 नवंबर से शुरू हो रहा है।