टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) एक बार फिर विवादों में फंसते दिख रहे हैं. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 8 महीने एक पुराने मामले में युवराज ने एक ‘जातीय टिप्पणी’ की थी. इसके चलते उनके खिलाफ हरियाणा में अब एफआईआर दर्ज की है. युवराज ने इंस्टाग्राम लाइव चैट के दौरान जब इस अपमानजनक जातीय टिप्पणी शब्द का इस्तेमाल किया तब वह स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) से बात कर रहे थे और उन्होंने युजवेंद्र चहल पर वह टिप्पणी की थी.

युवराज ने जिस शब्द का इस्तेमाल किया वह दलित समुदाय के खिलाफ अपमानजनक शब्द था. हालांकि बाद में अपनी गलती का अहसास होने के बाद युवी ने सोशल मीडिया पर इसके लिए खेद जताते हुए माफी भी मांग ली थी.

हरियाणा के हिसार जिले के एक वकील ने इस मामले में युवराज के खिलाफ तभी पुलिस को शिकायत दी थी. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस शिकायत पर कार्यवाही करते हुए हरियाणा पुलिस ने अब 8 महीने बाद एफआईआर दर्ज की है. हिसार के हांसी पुलिस स्टेशन में दर्ज हुई इस एफआईआर में युवराज सिंह पर आईपीसी की धारा 153, 153A, 295, 505 के अलावा सेक्शन एससी/एसटी ऐक्ट (SC/ST Act) के सेक्शन 3 (1) (r) और 3 (1) (s) के तहत यह एफआईआर दर्ज की है.

बता दें युवराज का यह कॉमेंट तब सामने आया था, जब देश में लोकडाउन लगा हुआ था कि दुनिया भर की सभी खेल गतिविधियां ठप्प पड़ी थीं. ऐसे वक्त में दुनिया भर के नामचीन खिलाड़ी अपने-अपने फैन्स के मनोरंजन के लिए सोशल मीडिया पर खास चैट सेशन कर रहे थे. ऐसे ही एक चैट सेशन में इंस्टाग्राम पर युवराज सिंह और रोहित शर्मा भी रू-ब-रू हो रहे थे.

इस दौरान टीम इंडिया के युवा स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव भी युवी और रोहित की चैट में अपने मजेदार कॉमेंट कर रहे थे. तभी युवराज ने चहल और कुलदीप पर यह अपमानजनक शब्द का प्रयोग कर दिया. इस चैट शो में रोहित और युवी चहल के टिक-टॉक वीडियो को लेकर भी बात कर रहे थे. तब चहल अपने पिता के साथ डांस करते कुछ टिकटॉक वीडियो में दिखाई दिए थे.