युवराज सिंह और सुरेश रैना  © Getty Images
युवराज सिंह और सुरेश रैना © Getty Images

टीम इंडिया से बाहर चल रहे युवराज सिंह और सुरेश रैना को अब मोहम्मद अजहरुद्दीन का समर्थन मिला है। उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि उन्हें यो यो टेस्ट के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है लेकिन युवराज सिंह जैसे खिलाड़ियों को फिटनेस को लेकर थोड़ी छूट मिलनी चाहिए। आखिरी बार युवराज सिंह टीम इंडिया की ओर से वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में खेलते नजर आए थे। इस दौरान वह हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण टीम इंडिया से बाहर हो गए थे। युवराज सिंह टीम इंडिया की चैंपियंस ट्रॉफी टीम का हिस्सा रहे थे। इसके पहले उन्होंने टीम इंडिया में इंग्लैंड के खिलाफ सनसनीखेज 150 रनों की पारी के साथ वापसी की थी।

सुरेश रैना टीम इंडिया से लंबे समय से बाहर चल रहे हैं। उन्होंने टीम इंडिया के लिए अपना आखिरी वनडे साल 2015 में खेला था। वैसे उन्हें टी20 टीम में जरूर बीच में मौका दिया गया था। आखिरी बार वह इंग्लैंड के खिलाफ फरवरी में भारत की ओर से टी20 मैच खेलते नजर आए थे। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने स्पोर्ट्स 360 से बातचीत में कहा, “मुझे वास्तव में नहीं पता कि यो यो टेस्ट क्या है। लेकिन फिटनेस की बात करें तो हर किसी को फिट होना चाहिए। अगर आप फिट नहीं है तो आप मत खेलो। लेकिन मुझे लगता है कि कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो अपने करियर के अंतिम छोर पर खड़े हैं लेकिन अभी भी बहुत अच्छा खेल रहे हैं। शायद उन्हें फिटनेस में थोड़ी छूट देनी चाहिए।”

खतरे में नाथन कूल्टर नाइल का करियर, लगी बड़ी चोट!
खतरे में नाथन कूल्टर नाइल का करियर, लगी बड़ी चोट!

दोनों युवराज और रैना ने श्रीलंका सीरीज के पहले एनसीए बैंगलोर में फिटनेस टेस्ट में हिस्सा लिया था। लेकिन यो यो टेस्ट में फेल होने के बाद दोनों ही टीम में जगह बनाने में असफल रहे। अजहर ने कहा, “युवराज सिंह जैसा खिलाड़ी अपनी कैंसर की बीमारी से गुजर चुका है। मुझे नहीं लगता कि उन्होंने यो यो टेस्ट पास किया होगा। वैसे अन्य खिलाड़ी भी हैं। मैं सुरेश रैना का बहुत बड़ा फैन हूं। मुझे लगा है कि उसकी वापसी होनी चाहिए। मैंने उन्हें एक या डेढ़ महीने पहले देखा था और अब वह बहुत फिट हो चुके हैं। लेकिन अगर टीम ने निर्णय लिया है जो आपको उसका समर्थन करना चाहिए।”