Focus on Hardik Pandya, Jasprit Bumrah’s workload in Mumbai vs Delhi match

मुंबई की टीम जब रविवार को 12वें इंडियन टी20 लीग में अपने पहले मैच में दिल्ली से भिड़ेगी तो इसमें सबसे ज्यादा ध्यान जसप्रीत बुमराह और ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के वर्कलोड पर लगा होगा। पांड्या को पिछले छह महीनों में दो बार चोटों का सामना करना पड़ा था जिसके कारण वो सितंबर में एशिया कप में और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में नहीं खेल पाये थे।

मुंबई इंडियंस के क्रिकेट निदेशक पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज जहीर खान को भी लगता है कि पांड्या के कार्यभार पर निगाह रखी जानी चाहिए क्योंकि उसकी पीठे के निचले हिस्से की चोट बार बार उभर आती है। उन्होंने कहा, ‘‘वो सहयोगी स्टाफ की सलाह पर खेलेगा।’’

ये भी पढ़ें:  ‘लीग शुरू होने से पहले शानदार लय में हैं डेविड वार्नर’

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा को भी लगता है कि विश्व को देखते हुए आईपीएल में कार्यभार की जिम्मेदारी खुद खिलाड़ियों पर है। बुमराह एक अन्य खिलाड़ी हैं जिस पर भारतीय टीम मैनेजमेंट की निगाह लगी होगी। ये देखना भी दिलचस्प होगा कि मुंबई इंडियंस बुमराह का बोझ कैसे संभालते हैं, खासकर तब जब अनुभवी श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा फ्रेंचाइजी के लिए पहले छह मैच नहीं खेलेंगे।

ये भी पढ़ें: महेंद्र सिंह धोनी के ना खेलने से ऑस्ट्रेलिया को जीत का मौका दिखा

रोहित के प्रदर्शन पर भी सभी की निगाह लगी होगी क्योंकि उनके विश्व कप में पारी का आगाज करने की उम्मीद है।इसके अलावा तीन बार की आईपीएल विजेता मुंबई इंडियंस ने अपनी टीम में युवराज सिंह को शामिल किया है जिसमें कीरोन पोलार्ड, बेन कटिंग और सूर्यकुमार यादव जैसे बिग हिटर भी मौजूद हैं।

तेज गेंदबाजी में बरिंदर सरन, मिशेल मैक्लेनेघन को आजमाया जा सकता है जबकि क्रुणाल पांड्या, जयंत यादव, अनुकूल रॉय, राहुल चाहर और उभरते हुए स्टार मयंक मार्कंडे मुंबई को स्पिन में काफी विकल्प मुहैया करा सकते हैं।

ये भी पढ़ें: चेन्नई के पास स्पिनरों से निपटने वाले बल्लेबाज हैं: कृष्णामचारी श्रीकांत

दिल्ल टीम में शिखर धवन मौजूद हैं जो विश्व कप से पहले रन जुटाना चाहेंगे। श्रेयस अय्यर और विकेटकीपर ऋषभ पंत जैसे युवा खिलाड़ियों का अच्छा प्रदर्श न उनके विश्व कप टीम में जगह बनाने के मौके को बढ़ा सकता है। दिल्ली की टीम में पृथ्वी शॉ, मंजोत कालरा और अनुभवी खिलाड़ी जैसे कॉलिन मुनरो और क्रिस मॉरिस शामिल है। ट्रेंट बोल्ट, इशांत शर्मा, कागिसो रबाडा और नाथू सिंह की मौजूदगी से दिल्ली का गेंदबाजी आक्रमण पैना दिखता है।