फुटबॉल क्लब लीसेस्टर सिटी की जीत से खुश हैं: कोच क्लाउडियो रानिएरी
कोच क्लाउडियो रानिएरी photo courtesy thenational.ae

इंग्लैंड के फुटबाल क्लब लीसेस्टर सिटी के मुख्य कोच क्लाउडियो रानिएरी का मानना है कि टीम के खिलाड़ियों के मन और आत्मा ने उन्हें पहली बार इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) का खिताब दिलाया है। टॉटनेहम हॉट्सपर की टीम सोमवार को चेल्सी को हराने में नाकामयाब रही थी। इसके बाद सत्र के दो मैच बाकी रहते हुए लीसेस्टर के खाते में 132 सालों बाद पहली बार ईपीएल का खिताब आया।

लीसेस्टर के कोच रविवार को अपनी 96 वर्षीय मां से मिलने के लिए इटली रवाना हो गए थे। लेकिन, उन्होंने कहा है कि वह लीसेस्टर के विजेता बनने के पल का गवाह बनने के लिए इंग्लैंड वापस लौट आए।

वेबसाइट स्काई स्पोर्ट्स ने मंगलवार को रानिएरी के हवाले से लिखा, “मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं, मैं उतना अच्छा महसूस कर रहा हूं जितना आप सोच सकते हैं।”

उन्होंने कहा, “मैं मैच देखने के लिए घर पर था। मैंने अपनी मां के साथ दिन का खाना खाया और फिर मैं हमारे विमान से सात बजे वापस लौटा। मैंने मैच देखा। मेरी खुशी चरम पर थी।”

उनसे जब पूछा गया कि क्लब की इस अपार सफलता के पीछे का कारण क्या है, उन्होंने कहा, “मैं नहीं जानता। मेरा मानना है कि खिलाड़ियों ने अपना दिल और आत्मा लगाकर इसे जीता है।”

30 साल के करियर में पहली बार लीग का खिताब जीतने पर उन्होंने कहा, “इसका मतलब की काम अच्छा था। मैं काफी खुश हूं क्योंकि मैं जानता हूं कि अगर मैंने यह खिताब अपने करियर की शुरुआत में जीता होता तो मैं अभी तक इसे भूल चुका होता।”

रानिएरी ने कहा कि उन्होंने अभी तक अपने खिलाड़ियों से बात नहीं की है। उन्होंने कहा कि वह उनका इंतजार करेंगे और फिर एक साथ मिल कर जश्न मनाएंगे। उन्होंने पहले से ही क्लब के उज्जवल भविष्य के बारे में सोच लिया है।

उन्होंने कहा, “मैं हर बार कहता हूं मैं क्लब के समर्थकों के लिए, अध्यक्ष के लिए, पूरे लीसेस्टर के लिए काफी खुश हूं। हम सुधार करना चाहते हैं।”