Former British cricketer gave a statement on Jonny Bairstow and Kohli s sharp argument, said – the dignity of the game should not be forgotten

ऐजबेस्टन में खेले गए पांचवे टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने भारत को सात विकेट से मात दी। इसके साथ ही पांच मैचों की सीरीज 2-2 से बराबर हो गई। जो रूट और जॉनी बेयरस्टो ने शानदार सेंचुरियां बनाईं।

इस बीच इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर डेविड लॉयड ने कहा है कि मंगलवार को एजबेस्टन में उनके शानदार सात विकेट के बाद भारत के खिलाड़ियों को जो रूट और जॉनी बेयरस्टो के साथ गर्मजोशी मिलते देखना बहुत अच्छा अनुभव था। मैच में इंग्लैंड की जीत के बाद विराट कोहली और जॉनी बेयरस्टो ने हाथ मिलाया और कोहली ने उनकी पीठ थपथपाई। कोहली और बेयरस्टो के बीच एजबेस्टन टेस्ट में तीखी बहस हुई थी।

टेस्ट मैच के तीसरे दिन दोनों खिलाड़ियों के बीच काफी नोकझोंक हुई थी और कोहली को आउट होने के बाद फ्लाइंग किस देते और बेयरस्टो को अलविदा कहते हुए भी देखा गया था। कई पूर्व क्रिकेटर कोहली के इस कारनामे के खिलाफ थे, इस मामले में ब्रिटिश मीडिया ने भारत के पूर्व कप्तान की आलोचना की थी। हालांकि, खेल की समाप्ति होते होते, कोहली और बेयरस्टो के बीच सब ठीक हो गया, और लॉयड विशेष रूप से इसके लिए बेहद खुश थे।

द डेली मेल से बातचीत करते हुए लॉयड ने कहा  ‘मैंने सोचा था कि खेल की समाप्ति मैदान पर दृश्य शानदार थे, भारत के खिलाड़ियों ने रूट और जॉनी बेयरस्टो को गर्मजोशी से बधाई दी। और जो कमाल का काम उन्होंने किया उसकी तारीफ की।’ लॉयड ने विराट कोहली का खास जिक्र करते हुए उन्हें भारतीय टीम का सबसे जोशीला और जुझारू क्रिकेटर बताया। उन्होंने कहा कि कभी-कभी वह किसी खलनायक से भी लग सकते हैं। पर उन्होंने भी इन दोनों खिलाड़ियों की तारीफ में बातें कहीं। मुझे यह अच्छा लगा।