Former India batting coach Sanjay Bangar believes coaching staff actually double up as mental conditioning coach
sanjay bangar @ Twitter

कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते भले ही खेल संबंधित गतिविधियां बंद हो लेकिन खिलाड़ी अभी भी किसी न किसी रूप में अपने फैन्‍स के साथ जुड़े हुए हैं। वो सोशल मीडिया और स्‍पोर्ट्स चैनलों पर खुलकर अपनी विचार रख रहे हैं। भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) ने हाल ही में कहा कि कोचों और खिलाड़ियों के बीच मजबूत रिश्ते के लिये आपसी विश्वास का होना बेहद जरूरी है ताकि खिलाड़ी अपनी असुरक्षाओं पर कोचों से बात कर सकें।

बांगड़ (Sanjay Bangar) ने स्टार स्पोटर्स पर ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ शो में कहा ,‘‘ विश्वास बहुत जरूरी है। मानसिक अनुकूलन कोच हो सकता है या तकनीकी कोच।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ कोच और खिलाड़ी के बीच ऐसा संबंध होना चाहिये कि खिलाड़ी अपनी असुरक्षाओं पर कोच से बात कर सके और उसे इत्मीनान रहे कि कोच उन दोनों की बात को बाहर नहीं जाने देगा।’’

मानसिक अनुकूलन कोचों के बारे में संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) ने कहा ,‘‘ कोच मानसिक अनुकूलन का भी काम करते हैं क्योंकि वे खिलाड़ियों के साथ काफी समय बिताते हैं और खिलाड़ी उन पर भरोसा करते हैं।’’ बांगड़ 2014 से 2019 के बीच भारत के बल्लेबाजी कोच रहे।