Former Indian Cricketer Madhav Apte dies at 86
माधव आप्टे, सुनील गावस्कर (PTI)

भारतीय क्रिकेटर माधव आप्टे का सोमवार सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वो 86 साल के थे। आप्टे के बेटे वामन आप्टे ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि पूर्व ओपनर ने सुबह छह बजकर नौ मिनट पर ‘ब्रीच कैंडी अस्पताल’ में आखिरी सांस ली। वो मुंबई के प्रतिष्ठित सीसीआई क्लब के अध्यक्ष भी रहे।

आप्टे ने अपने करियर में सात टेस्ट मैच खेल और 542 रन बनाए, जिसमें केवल एक शतक शामिल है। इसके अलावा प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उन्होंने 67 मैचों में 3336 रन बनाए हैं। प्रथम श्रेणी में माधव आप्टे ने 67 मैचों में छह शतक और 16 अर्धशतक की बदौलत 3336 रन जुटाए। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनका शीर्ष स्कोर नाबाद 165 रन रहा।

माधव आप्टे ने नवंबर 1952 में पाकिस्तान के खिलाफ क्रिकेट क्लब आफ इंडिया में टेस्ट डेब्यू किया और अपना अंतिम टेस्ट अप्रैल 1953 को किंग्सटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला। उन्होंने अपने पदार्पण टेस्ट में 30 और नाबाद 10 रन की पारियां खेली।

वो किसी टेस्ट सीरीज में 400 से अधिक रन बनाने वाले पहले भारतीय सलामी बल्लेबाज थे। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 1953 में 460 रन बनाकर ये उपलब्धि हासिल की।

माधव आप्टे को एक अन्य दिग्गज बल्लेबाज वीनू मांकड़ ने सलामी बल्लेबाज की भूमिका सौंपी थी। वह बाद में घरेलू क्रिेकेट में मुंबई के कप्तान भी बने। वह अपने करियर के दौरान मांकड़, पोली उमरीगर, विजय हजारे और रूसी मोदी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के साथ खेले।

क्रिस ग्रीन के 4-विकेट हॉल-ब्रैंडन किंग के अर्धशतक के दम पर वॉरियर्स ने ट्राइडेंट्स को हराया

भारतीय क्रिकेटर यूसुफ पठान ने आप्टे के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट किया, “श्री माधव आप्टे के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ। वो भारत और मुंबई के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक थे। उनके परिवार के सदस्यों, दोस्तों और करीबियों के प्रति संवेदना।”

मुंबई के पूर्व क्रिकेटर अमोल मजूमदार ने ट्वीट किया, “माधव आप्टे सर के बारे में बेहद दुखद खबर। उनके साथ कई यादें साझा कीं। मुंबई के दिग्गजों की एक और स्वर्णिम पीढ़ी का निधन। उनकी आत्मा को शांति मिले। ओम शांति।”