Fraud from young cricketers in the name of selection in Ranji Trophy

रणजी ट्रॉफी और अन्य टूर्नामेंटों में चयन के नाम पर युवा क्रिकेटरों के धोखाधड़ी के मामले में दो कोचों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने गुरुवार को ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रांच ने पीतमपुरा में फ्रेंड्स एकेडमी में आरोपी कोच रवि दलाल और उसके साथी हरीश जमाल, जो कि एक स्कूल में पार्ट टाइम कोच है, इन्हें गिरफ्तार किया है।

अधिकारी ने कहा कि बीसीसीआई में इंटीग्रिटी मैनेजर अंशुमान उपाध्याय ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच से शिकायत की थी कि कुछ लोग युवा खिलाड़ियों को रणजी टीम में जगह दिलाने के नाम पर उनके साथ ठगी कर रहे हैं।

जांच के दौरान पाया कि दो युवा खिलाड़ी कनिष्क गौर और शिवम के साथ धोखाधड़ी की गई है।

कश्मीर में महेंद्र सिंह धोनी की पोस्टिंग, मिला पेट्रोलिंग ड्यूटी का जिम्मा

रवि दलाल ने कनिष्क गौर से 11 लाख रुपये लेकर उसे गेस्ट प्लेयर के तौर पर खिलाने का वादा किया और फर्जी जन्म प्रमाणपत्र पर दूसरे राज्य से अंडर 19 में स्थानीय खिलाड़ी के रूप में केवल दो मैच खेलने का मौका दिया।

इसके अलावा ये भी पाया गया कि शिवम से भी चार लाख रुपये वसूले गए हैं। दलाल ने ये पैसा गौर से लेकर जमाल को दे दिया था।