भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को कैप्‍टन कूल के नाम से भी जाना जाता है. मुश्किल वक्‍त में शांत रहते हुए सही निर्णय लेकर टीम को जिताना उनकी खूबियों में से एक है. वहीं, मौजूदा कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) की छवि एक उग्र खिलाड़ी की है.  पूर्व चयनकर्ता गगन खोड़ा (Gagan Khode) का कहना है कि पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी भी विराट कोहली की तरह के उग्र खिलाड़ी हैं, लेकिन वो सुरक्षित रहते हुए ऐसा करते थे.

उन्‍होंने कहा, “धोनी कभी भी विरोधी टीम के खिलाड़ियों के साथ मौखिक झगड़ों में नहीं पड़ते थे क्‍योंकि उन्‍हें इस खेल का काफी अच्‍छा ज्ञान था. आईपीएल के दौरान धोनी कई बार अपने हक के लिए अंपायर्स के साथ उलझते हुए नजर आए हैं.”

गगन खोड़े ने वेबसाइट स्‍पोर्ट्स कीड़ा से बातचीत के दौरान कहा, “लोग कहते हैं कि विराट कोहली उग्रता के साथ खेलते हैं जबकि महेंद्र सिंह धोनी ऐसा नहीं करते. मैं इस बात पर विश्‍वास नहीं करता. एक कप्‍तान के तौर पर आपको सुरक्षित रहने की जरूरत होती है. वो चीजों को काफी तेजी से सीखते हैं. विराट कोहली काफी उग्र रहते हैं. वो फिलहाल यह सीख रहे हैं कि कैसे सुरक्षित रहना है. वो चीजों को तेजी से सीख रहे हैं.”

गगन खोड़े ने कहा, “दो कप्‍तानों में फर्क केवल इतना है कि महेंद्र सिंह धोनी सामने आकर उग्र नजर नहीं आते हैं. आप एक ही वक्‍त में विरोधी टीम पर प्रहार करने के साथ-साथ उग्र नहीं हो सकते हैं. धोनी दोनों का कॉम्बिनेशन हैं. विराट वहां पहुंच रहे हैं. चीजों को सीखने में विराट कोफी अच्‍छे हैं. वो अपनी गलतियों को स्‍वीकार कर उन्‍हें सुधारने का प्रयास करते हैं.”