Gambhir said We have to stop worshipping Kohli and Dhoni like a heroes
Twitter

पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं। गंभीर ने अब भारतीय क्रिकेट में हीरो कल्चर को लेकर बड़ा बयान दिया है। गंभीर ने कहा है कि हमें विराट कोहली और एमएस धोनी जैसे खिलाड़ियों को पूजना बंद कर देना चाहिए। साथ ही उन्होंने प्रसारकों से लेकर मीडिया को अन्य खिलाड़ियों पर भी ध्यान देने की सलाह दी है।

गौतम गंभीर ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा है कि टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में कोई मॉन्स्टर तैयार ना करें, सिर्फ भारतीय क्रिकेट को ही असली मॉन्स्टर रहने दें। गंभीर ने “क्या आपको लगता है कि हीरो कल्चर की वजह से आने वाले सितारे कहीं न कहीं खो जाते हैं? इस तरह से और कोई खिलाड़ी आगे नहीं बढ़ पाता है। पहले महेंद्र सिंह धोनी थे, अब विराट कोहली हैं।”

गंभीर ने एशिया कप 2022 के उस मुकाबले का भी जिक्र किया जिसमें कोहली ने अफगानिस्तान के खिलाफ T20I में अपना पहला शतक जड़ा था जबकि भुवनेश्वर कुमार ने 5 विकेट अपने नाम किए थे।

गंभीर ने कहा, “जब कोहली ने शतक बनाया था तो मेरठ के एक छोटे से शहर से आने वाले गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने पांच विकेट झटके थे, लेकिन किसी ने भी भुवी के बारे में बात करने की जहमत नहीं उठाई। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण था। उस वक्त कमेंट्री के दौरान मैं अकेला था, जिसने ऐसा कहा था। उन्होंने चार ओवर फेंके और पांच विकेट हासिल किए और मुझे नहीं लगता कि कोई इसके बारे में जानता है। लेकिन कोहली ने शतक बनाया और पूरे देश जश्न में डूब गया। भारत को हीरो पूजने वाले कल्चर से बाहर आने की जरूरत है। चाहे वह भारतीय क्रिकेट हो, चाहे वह राजनीति हो, चाहे वह दिल्ली क्रिकेट हो। हमें हीरोज की पूजा बंद करनी होगी। केवल एक चीज जिसकी हमें पूजा करने की आवश्यकता है वह है भारतीय क्रिकेट, या फिर दिल्ली या भारत।”