गौतम गंभीर  © BCCI
गौतम गंभीर © BCCI

गौतम गंभीर ने भारतीय खिलाड़ी के रूप में सभी पारूपों में हाथ आजमाया और उन्होंने हर तरह से अपने आपको खरा साबित किया। वह दो बार वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया के सदस्य रहे (एक आईसीसी और एक वर्ल्ड टी20), इसके अलावा अपनी कप्तानी में उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स को दो बार आईपीएल खिताब जितवाया। अब गंभीर एक नई भूमिका में अपना हाथ आजमाने के लिए तैयार हैं। दरअसल, तमिलनाडु प्रीमियर लीग-2 के इस सीजन में गंभीर मेंटर की भूमिका में नजर आएंगे। टीएनपीएल का पहला संस्करण खासा सफल रहा था जिसमें खेलने वाले कई खिलाड़ियों को आईपीएल में खरीदा गया। इस टूर्नामेंट खेलने वाले टी- नटराजन और अस्विन क्राइस्ट की खासी तारीफ हुई थी।

पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने कहा कि वह कुछ फ्रेंचाइजियों के साथ बातचीत में हैं। हालांकि, वे अभी अंतिम निर्णय पर नहीं पहुंचे हैं। गंभीर ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, “हां, मेरी कुछ फ्रेंचाइजियों से मेंटर की भूमिका के लिए बातचीत हुई है।” हालांकि, गंभीर ने इस बात की पुष्टि कर दी कि वह लीग में एक खिलाड़ी के रूप में भाग नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि लीग युवाओं के लिए है ताकि वे मौके प्राप्त करते हुए तमिलनाडु के बड़े प्लेटफॉर्म में अपने प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकें। ये भी पढ़ें: आईसीसी टूर्नामेंट में टीम इंडिया ने लगाई ‘रिकॉर्डों की झड़ी’

खबरों के मुताबिक जिन फ्रेंचाइजियों से बातचीत में गौतम गंभीर थे उन्हें उन्होंने अलग- अलग प्रेजेंटेशन दी हैं। गंभीर टीम में गहराई वाला रोल चाहते हैं, वह ऐसी भूमिका में नहीं रहना चाहते जो सिर्फ टीम का प्रमोशन करे। पिछले सीजन में कई पूर्व विदेशी खिलाड़ी लीग में कोच और मेंटर के रूप में जुड़े थे। इस ग्रुप में गंभीर सिर्फ बड़ा नाम नहीं होंगे बल्कि वह खिलाड़ियों के विकास के लिए भी मददगार साबित होंगे।”

गंभीर के इस रोल लेने के ऊपर एक सूत्र ने कहा, “टीएनपीएल में मेंटरिंग करने का मतलब यह नहीं है कि वह अपने क्रिकेट करियर से समझौता करेंगे। बल्कि यह गंभीर के लिए नया अनुभव होगा। वह इस जिम्मेदारी को उस समय ले रहे हैं जब उनके पास शायद ही कोई क्रिकेट टूर्नामेंट खेलने को होगा। वह दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे। वहीं आईपीएल में भी क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे। उम्मीद करते हैं कि वह जल्द ही टीम इंडिया के लिए वापसी करेंगे।”