आईसीसी जहां एक तरफ टेस्ट फॉर्मेट को पॉपुलर बनाने के लिए डे-नाइट टेस्ट और चार दिवसीय टेस्ट जैसे नए फॉर्मेट्स पर चर्चा कर रही है, वहीं पहले से दर्शकों के बीच पॉपुलर टी20 फॉर्मेट में नयापन लाने के लिए 20-20 ओवर के मैच को चार पारियों में बांटने पर चर्चा हो रही है लेकिन पूर्व दिग्गज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) और ब्रेट ली (Brett Lee) इसके खिलाफ हैं।

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘स्टे कनेक्टेड’ पर कहा, ‘‘मैं इसमें अधिक विश्वास नहीं करता कि टी20 क्रिकेट को दो पारियों में बांटना चाहिए। मुझे लगता है कि सचिन तेंदुलकर ने सुझाव दिया था कि 50 ओवर के क्रिकेट में ऐसा किया जा सकता है जो काफी समझदारी भरा लगता है क्योंकि आपको 25 ओवर (दोनों बार) मिलेंगे।’’

गंभीर वनडे मैचों को चार पारियों में बांटने के तेंदुलकर के सुझाव से सहमत हैं। इस बारे में उन्होंने कहा, ‘‘इससे संभवत: टॉस की अहमियत कम हो जाएगी क्योंकि कुछ परिस्थितियों में टास बड़ी भूमिका निभाता है और मैं इसके पक्ष में हूं।लेकिन टी20 में नहीं, ये बेहद छोटा प्रारूप है। इसको 10 ओवर की दो पारियों में बांटने से ये काफी छोटा हो जाएगा।’’

क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज गति से गेंदबाजी करने वालों में से एक ली ने कहा कि कुछ चीजों को पारंपरिक ही चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं टी20 क्रिकेट का समर्थक हूं, फिर ये चाहे इंडियन प्रीमियर लीग हो या बिग बैश, लोगों को खेल तक लाने के लिए कुछ रोमांचक होना चाहिए।’’

ली ने कहा, ‘‘लेकिन जब बात क्रिकेट की आती है तो आप कुछ चीजों को पारंपरिक रखना चाहते हैं और मुझे लगता है कि चार पारियां काफी अधिक होंगी।’’