Gautam Gambhir: India lacked 3rd seamer at Lords; Not having Umesh Yadav was massive turning point
Gautam Gambhir © Getty Images (File Photo)

लॉर्ड्स टेस्ट के तीसरे दिन क्रिस वोक्स और जॉनी बेयरस्टो की शतकीय साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने 250 रन की बढ़त हासिल कर ली। भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा ने अच्छा प्रदर्शन किया और विकेट भी निकाले लेकिन तीसरे सीम गेंदबाज की कमी साफ नजर आई। सीनियर क्रिकेटर गौतम गंभीर का भी यही कहना है।

'पहला टेस्ट हारने के बाद भी भारतीय बल्लेबाजी में नहीं हुआ कोई सुधार'
'पहला टेस्ट हारने के बाद भी भारतीय बल्लेबाजी में नहीं हुआ कोई सुधार'

दूसरे टेस्ट में भारत के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए गंभीर ने कहा, “लॉर्ड्स टेस्ट का तीसरा दिन इंग्लैंड के नाम रहा। भारतीय टीम को जाहिर तौर पर तीसरे सीमर की कमी खली। 89 पर चार विकेट गिरने के बाद खेल भारत के पक्ष में था लेकिन क्रिस वोक्स और जॉनी बेयरस्टो की साझेदारी खेल को इंग्लैंड की ओर ले गई। उन्हें भी पता था कि केवल ईशांत और शमी के अटैक का ही सामना करना है। अश्विन के लिए पिच पर कुछ था नहीं।”

हार्दिक पांड्या टेस्ट टीम में बतौर ऑलराउंडर जरूर खेल रहे लेकिन सीरीज में अब तक उन्होंने गेंद से कोई खास प्रदर्शन नहीं किया है। गंभीर ने भी माना कि पांड्या भारतीय टीम के तीसरे सीम गेंदबाज नहीं है। उन्होंने कहा, “पांड्या ऐसा गेंदबाज नहीं है जो आपको 3-4 विकेट निकाल कर देगा। उमेश यादव का टीम में ना होना भारत के लिए बड़ा टर्निंग प्वाइंट रहा।”

गंभीर ने साफ कहा कि यहां से मैच के केवल दो ही नतीजे हो सकते हैं, या तो इंग्लैंड जीतेगा या फिर मैच ड्रॉ होगा। हालांकि उन्होंने ये भी माना कि मौसम पर काफी कुछ निर्भर करेगा।