Gautam Gambhir, Shahid Afridi have to be sensible: Waqar Younis urges former cricketers to end differences
Gautam Gambhir and Shahid Afridi

पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच वकार युनूस ने क्रिकेट टीम के अपने पूर्व साथी शाहिद आफरीदी और भारतीय के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर से सोशल मीडिया पर लंबे समय से चली आ रही खींचातानी को खत्म कर ‘समझदारी से बात करने’ की अपील की।

गंभीर और अफरीदी के बीच सोशल मीडिया पर राजनीति से लेकर क्रिकेट करियर तक के विषयों पर लंबे समय से एक दूसरे के खिलाफ शब्दों के बाण चल रहे है।

अपनी आत्मकथा में भी आफरीदी ने गंभीर पर कटाक्ष करते हुए लिखा था, ‘वह ऐसे बर्ताव करते है जैसे उनमें डॉन ब्रैडमैन और जेम्स बॉन्ड वाले गुण हो। उनका रवैया आक्रामक रहता है लेकिन उनके रिकार्ड अच्छे नहीं है।’ गंभीर ने इसके जवाब में कहा था कि वह आफरीदी को खुद ही मनोचिकित्सक के पास ले जाएंगे।

‘दोनों को होशियार, समझदार और शांत होने की जरूरत है’

वकार ने ‘ग्लोफैंस’ द्वारा आयोजित ‘क्यू20’ कार्यक्रम में कहा, ‘गौतम गंभीर और शाहिद आफरीदी के बीच पिछले कुछ समय से तनातनी चल रही है। मुझे लगता है कि दोनों को होशियार, समझदार और शांत होने की जरूरत है।’

उन्होंने कहा, ‘सोशल मीडिया पर अगर आप ऐसा करते हैं, तो लोग इसे पसंद करेंगे, इसका मजा लेंगे। मुझे लगता है कि वे दोनों को समझदारी से काम लेने की जरूरत है।’ सोशल मीडिया पर दोनों की तीखी प्रतिक्रियाओं पर नजर रखने वाले वकार ने कहा सलाह दी कि दोनों को मिल कर इस मुद्दे को सुलझा चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘यह लंबा खिंचता जा रहा। दोनों को मेरी सलाह होगी कि कही मिलकर इस बारे में बात करें और अगर ऐसा संभव नहीं है तो शांत रह सकते है।’

आफरीदी ने पिछले महीने कश्मीर और प्रधानमंत्री के खिलाफ भारत विरोधी टिप्पणी की थी

आफरीदी ने पिछले महीने कश्मीर और प्रधानमंत्री के खिलाफ भारत विरोधी टिप्पणी की थी जिसके बाद पूर्व भारतीय खिलाड़ियों युवराज सिंह और हरभजन सिंह ने उनसे संबंध तोड़ लिया। इससे से पहले पंजाब के दोनों खिलाड़ियों ने अफरीदी के एनजीओ को समर्थन दिया था।

‘आफरीदी ने पिछले महीने कश्मीर और प्रधानमंत्री के खिलाफ भारत विरोधी टिप्पणी की थी’

वकार ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि आफरीदी ने पिछले महीने कश्मीर और प्रधानमंत्री के खिलाफ भारत विरोधी टिप्पणी की थी।

उन्होंने कहा, ‘अगर आप दोनों देशों के लोगों से पूछेंगे कि क्या पाकिस्तान और भारत को एक-दूसरे का खिलाफ खेलना चाहिए। लगभग 95 प्रतिशत लोगा इससे सहमत होंगे कि इन दोनों के बीच क्रिकेट खेला जाना चाहिए।’

इस पूर्व तेज गेंदबाज को उम्मीद है कि दोनों देश निकट भविष्य में द्विपक्षीय श्रृंखला में खेलेंगे। उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान द्विपक्षीय श्रृंखला में खेलेंगे। ये मुकाबलें कहा खेले जाएंगे यह नहीं पता, लेकिन मुझे उम्मीद है कि यह पाकिस्तान या भारत में होगा।’