Gautam Gambhir wants Sanju Samson to be India’s number 4 batsman in ICC World Cup
संजू सैमसन (BCCI)

आईसीसी विश्व कप शुरू होने में अब केवल एक महीने का समय बचा है, बावजूद इसके टीम इंडिया के नंबर चार के बल्लेबाज की तलाश पूरी नहीं हुई। इंडियन प्रीमियर लीग शुरू होने से पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली आखिरी वनडे सीरीज में भारतीय टीम के नंबर चार बल्लेबाज के मौजूदा विकल्प अंबाती रायडू का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था। विश्व कप से पहले नंबर चार का विकल्प तलाशने का एक ही रास्ता है-आईपीएल।

ये भी पढ़ें: संजू सैमसन ने जड़ा सीजन का पहला शतक, वार्नर ने खेली मैचविनिंग पारी

भले ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ये कह चुके हों कि आईपीएल के प्रदर्शन का विश्व कप स्क्वाड पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा लेकिन ये नामुमकिन है कि इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन कर रहे भारतीय बल्लेबाजों को चयनकर्ता अनदेखा कर देंगे। ऐसे ही एक बल्लेबाज हैं संजू सैमसन। राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए सैमसन ने शुक्रवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच में 102 रनों की शानदार पारी खेली। हालांकि उनकी टीम ये मैच हारकर गई लेकिन सैमसन को दिग्गजों की तारीफ मिली।

ये भी पढ़ें: हार के बाद रहाणे बोले- इस विकेट पर 190 से अधिक का स्‍कोर अच्‍छा था

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने सैमसन को विश्व कप में टीम इंडिया के लिए नंबर चार के बल्लेबाज का सबसे सही विकल्प बताया। गंभीर ने ट्वीट किया, “मैं आमतौर पर किसी एक खिलाड़ी की बात नहीं करता लेकिन उसके कौशल को देखकर मुझे ये जानकर खुशी हुई कि संजू सैमसन वर्तमान में भारत के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। मेरे ख्याल से उन्हें विश्व कप में नंबर 4 पर बल्लेबाजी करनी चाहिए।”

केरल के इस बल्लेबाज ने साल 2015 में टी20 फॉर्मेट के जरिए टीम इंडिया के लिए अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया था। जिम्बाब्वे के खिलाफ हुए उस मैच के बाद सैमसन कभी टीम इंडिया में नहीं लौटे। लिस्ट ए में उनके प्रदर्शन की बात करें तो संजू ने 78 मैचों में कुल 1,779 रन बनाने के साथ विकेट के पीछे 84 कैच और 12 स्टंपिंग भी की हैं।

वहीं पिछले आईपीएल सीजन में सैमसन ने राजस्थान के लिए 15 मैचों में 441 रन बनाए थे और उनके अहम खिलाड़ियों में से एक रहे थे। सैमसन के पिछले प्रदर्शन और मौजूदा फॉर्म को देखते हुए चयनकर्ताओं को विश्व कप स्क्वाड के लिए इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने नाम पर एक बार विचार करने की जरूरत है।